Sep 14, 2017

कांग्रेसी कहते हैं, हम कंप्यूटर लेकर आये, लेकिन ये चाहते हैं 'बुलेट ट्रेन ना आये' पढ़ें क्यों


congress-criticizing-modi-sarkar-for-bringing-bullet-train-in-india

आज भारत में बुलेट ट्रेन परियोजना की शुरुआत हो गयी, पांच साल बाद मुंबई से अहमदाबाद में बुलेट ट्रेन दौड़ने लगेगी, सभी देशवासी खुश हैं क्योंकि भारत में बुलेट ट्रेन दौड़ेगी तो सभी लोगों को इसका अनुभव लेने का मौका मिलेगा क्योंकि अभी बुलेट ट्रेन का अनुभव लेने के लिए भारत के लोग विदेश में जाते हैं और विदेश जाने में लाखों रुपये का किराया लग जाता है.

सभी देशवासी खुश हैं लेकिन कांग्रेस नाराज है. कांग्रेस कह रही है कि मोदीजी बुलेट ट्रेन क्यों ला रहे हैं, बुलेट ट्रेन की जरूरत क्या है. रेलवे ही पटरी से उतर रही है तो बुलेट ट्रेन सीधा पाताल में समा जाएगी. मोदी रेल नहीं संभाल पा रहे हैं तो बुलेट ट्रेन कैसे संभाल पाएंगे.

आपको याद दिला दें कि ये वही कांग्रेस है जो देश में कंप्यूटर लाने का क्रेडिट लेती है. सभी कांग्रेसी नेता कहते हैं कि हम इस देश में कंप्यूटर लेकर आये, हां सही है, लेकिन अगर तुम कंप्यूटर ना लाते तो भी इस देश का काम चलता, तुम कंप्यूटर इसलिए लाए क्योंकि दूसरे देशों में इसका इस्तेमाल हो रहा था, यही नहीं कंप्यूटर लाने में भी तुम्हें कई साल लग गए होंगे, प्रोजेक्ट बनाया होगा, पास कराया होता, संसद में चर्चा हुई होगी, बहुत पापड़ बेले होंगे, इसीलिए आज तुम लोग इसका क्रेडिट भी लेते हो.

मतलब, कांग्रेसी लोग कंप्यूटर लाने का क्रेडिट लेते हैं लेकिन बुलेट ट्रेन आने का विरोध कर रहे हैं, अब आप बताओ, जब दूसरे देशों में बुलेट ट्रेन चल रही हैं तो भारत में क्यों ना चलाई जाय, भारत इस मामले में पीछे क्यों रहे, कंप्यूटर आने से काम काज में तेजी आयी थी उसी तरह से बुलेट ट्रेन आने से काम काम में तेजी आएगी. लोग कम समय में एक शहर से दूसरे शहर जा पाएंगे, जहाँ जहाँ बुलेट ट्रेन जाएगी वहां विकास होगा, उद्योग लगेंगे, लोगों को रोजगार मिलेगा.

अब आप बताओ, इस देश में रोड की क्या जरूरत है क्योंकि हम तो कच्ची सड़कों पर भी सफ़र कर लेते हैं, इस देश में शिप की जरूरत है क्योंकि हम तो तैरना भी जानते हैं. इस देश में हवाई जहाज की क्या जरूरत है नेपोलियन तो पानी की नाव से ही एक देश से दूसरे देश में जाता था. काम पहले भी होता था और काम रोड, रेल, हवाई जहाज आने के बाद भी हो रहा है लेकिन तेज गति से हो रहा है. 

बुलेट ट्रेन की वजह से जापान की GDP 10 प्रतिशत से ऊपर पहंच गयी और और वह विकसित देशों में शामिल हो गया. आज जापान सबसे अमीर दशों में गिना जाता है, जापान ने 1964 में ही बुलेट ट्रेन चला दी थी लेकिन हमारे यहाँ आज तक ट्रेन भी ठीक तरह से नहीं चल पाई क्योंकि कांग्रेस ने रेल के आधुनिकीकरण का प्रयास ही नहीं किया, अगर कांग्रेस शुरुआत करती तो बुलेट ट्रेन 1980 में ही चलने लगती लेकिन कांग्रेस ने कोशिश ही नहीं की लेकिन आज मोदी ने कोशिश की है तो कांग्रेस विरोध कर रही है.
नीचे कमेन्ट बॉक्स में अपनी राय लिखें
पोस्ट शेयर करें और फेसबुक पेज LIKE करें
loading...

0 comments: