Sep 24, 2017

सच कहता हूँ, अगर ये लोग चीन या अमेरिका में होते तो इन्हें जेल में सड़ा दिया जाता या लटका देते


bhu-fake-image-posted-shared-on-social-media-no-action-by-police

भारत का साइबर विभाग बहुत ढीला-ढाला है, झूठ, फरेब बोलने वालों और सोशल मीडिया पर अफवाह फैलाने वालों पर कोई एक्शन नहीं लेता, भले ही इनके अफवाह फैलाने से देश का नुकसान होता है, विश्व में देश की छवि खराब होती है लेकिन ऐसे लोगों को हलके में लिया जाता है, सरकार की इसी कमीं का फायदा उठाकर ट्विटर, फेसबुक पर खूब अफवाह फैलायी जाती है.

कल बनारस हिन्दू विश्वविद्यालय में पुलिस पर पथराव करने वाले छात्रों और छात्राओं पर लाठीचार्ज किया गया, इसमें कुछ लोगों को हल्की चोटें भी आयीं लेकिन उन फोटो में किसी के शरीर से खून नहीं निकल रहा था इसलिए सोशल मीडिया पर एक ऐसी फोटो शेयर की गयी जिसके लड़की का शरीर खून से लहूलुहान था, लेकिन यह फोटो BHU की नहीं बल्कि लखीमपुर खीरी की थी जिसमें एकतरफा प्यार में पागल प्रेमी ने युवती को तलवार से मार दिया था.

इस फोटो को सभी वामपंथी जर्नलिस्ट, आपिये और पूर्व आपिये दिन भर शेयर करते रहे, दिन भर ये देश को बदनाम करते रहे लेकिन जब शाम को इनकी पोल खुल गयी तो सभी ने माफी मांग ली. हैरान करने वाली बात यह थी कि सभी लोगों ने सिर्फ मोदी पर हमला बोला था. ऐसा लग रहा है कि इन लोगों ने झूठी अफवाह फैलाकर मोदी सरकार को बदनाम करने की साजिश की थी लेकिन पुलिस ने अभी तक इनके ऊपर कोई एक्शन नहीं लिया है और ना ही लेने की उम्मीद है क्योंकि भारत में ऐसे ही चलता है.

अफवाह फैलाने वालों में वामपंथी जर्नलिस्ट मृणाल पाण्डेय भी थीं, इन्होने भी वही फोटो शेयर की और करीब करीब मोदी पर हमला बोला और Incredible India को हैश टैग किया, मतलब इनका मकसद भारत की छवि खराब करना था.

mrinal-pandey-fake-tweet

अफवाह फैलाने वालों में प्रशांत भूषण सबसे आगे रहे, शायद इन्होने ही सबसे पहले यह फेक फोटो शेयर की थी, इन्होने भी मोदी पर हमला बोलते हुए कहा - योगी अफित्यानाथ और BHU VC के गुंडे शांतिपूर्वक प्रदर्शन कर रही छात्राओं के साथ क्या कर रहे हैं, मोदीजी, क्या यह आपकी बेटी बचाओ योजना है. मतलब इन्होने यूपी पुलिस को योगी और BHU VC का गुंडा बता दिया.

prashant-bhushan-fake-tweet

अफवाह फैलाने वालों को AAP नेता संजय सिंह भी आगे रहे. इन्होने भी यही फेक फोटो शेयर करते हुए कहा - मोदीजी कुछ तो शर्म करो, वाराणसी BHU में लड़कियों के हॉस्टल में घुसकर योगी के पुलिसिया गुंडों ने छात्राओं को पीटा. इन्होने भी पुलिस को योगी का गुंडा ही बताया और फेक फोटो शेयर की.

aap-leader-sanjay-singh-fake-tweet

अफवाह फैलाने वालों में NDTV में कॉलम लिखने वाली जर्नलिस्ट स्वाति चतुर्वेदी भी रहीं, इन्होने भी मोदी पर ही हमला बोला और उनसे पूछा - जघन्य, BHU छात्राओं को पुलिस ने पीटा, यह मोदी की बेटी पढ़ो बेटी बचाओ योजना है.
swati-chaturvedi-fake-tweet

ये लोग दिनभर ट्विटर पर अफवाह फैलाते रहे लेकिन जब इनकी पोल खुल गयी तो सभी ने माफी मांग ली और ट्वीट को डिलीट कर दिया, मतलब दिन भर देश का माहौल बिगाड़े रखा, देश की छवि खराब करने की कोशिश की क्योंकि हो सकता है यही फोटो विदेशी मीडिया में भी छप गयी हूँ, अब विदेश वाले मीडिया भी इनकी देखा देखी भारत को बदनाम करेंगे और शाम को माफीनामा छाप देंगे, इन लोगों ने मोदी, योगी, बीजेपी और आरएसएस को बदनाम करने का पूरा प्रयास किया और शाम को ट्वीट डिलीट करके माफी मांग ली.
नीचे कमेन्ट बॉक्स में अपनी राय लिखें
पोस्ट शेयर करें और फेसबुक पेज LIKE करें
loading...

0 comments: