Sep 15, 2017

असदुद्दीन ओवैसी बोले, तसलीमा को मोदी ने बहन बनाया तो रोहिंग्या मोदी के भाई क्यों नहीं बन सकते?


asaddudin-owaisi-backed-rohingyas-refugees-in-india-like-others

लोकसभा सांसद और आल इंडिया इत्तेहादुल मुसलिमीन (AIMIM) पार्टी के चीफ असदुद्दीन ओवैसी ने भारत में रह रहे रोहिंग्या शरणार्थियों का समर्थन किया है. उन्होंने कहा कि मोदी सरकार को रोहिंग्या मुसलमानों को म्यांमार वापस भेजने की जरूरत नहीं है. इन्हें भारत में ही रहने दिया जाय. जब दूसरे शरणार्थी भारत में रह सकते हैं तो रोहिंग्या शरणार्थी क्यों नहीं रह सकते.

असद्दुदीन ओवैसी ने कहा कि बांग्लादेश की मशहूर लेखिका तसलीमा नसरीन 1994 से भारत में रह रही हैं, वह प्रधानमंत्री मोदी की बहन बन चुकी हैं, जब तसलीमा मोदी की बहन बन सकती हैं तो रोहिंग्या लोग मोदी के भाई क्यों नहीं बन सकते.

उन्होंने कहा कि अगर तसलीमा नसरीन यहाँ पर रह सकती हैं तो रोहिंग्या लोग क्यों नहीं. क्या उन्हें वापस भेजना सही है जो अपना सब कुछ गँवा चुके है. यह गलत है, केंद्र सकरार किस कानून के तहत उन्हें वापस भेज रही है. एक तरफ तो भारत UNCS का स्थाई सदस्य बनना चाहता है और दूसरी तरफ रोहिंग्या मुसलमानों के साथ अमानवीय व्यवहार किया जा रहा है. किस मुंह से भारत सुपर पॉवर होने की बात करता है. यहाँ पर तिब्बती शरणार्थी रह रहे हैं, दलाई लामा रह रहे हैं, बंगलादेशी शरणार्थी रह रहे हैं लेकिन रोहिंग्या को नहीं रहने दिया जा रहा है.
नीचे कमेन्ट बॉक्स में अपनी राय लिखें
पोस्ट शेयर करें और फेसबुक पेज LIKE करें
loading...

0 comments: