Sep 28, 2017

अरुण जेटली ने की यशवंत सिन्हा की धुलाई, बता दिया 80 वर्ष की उम्र में पद का लालची, पढ़ें


arun-jaitley-strong-reply-to-yashwant-sinha-on-economy-slow-sown

केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली ने आज पूर्व वित्त मंत्री यशवंत सिन्हा की इशारों इशारों पर जमकर धुनाई कर दी और उन्हें 80 वर्ष की उम्र में पद का लालची बता दिया. उन्होंने कहा कि मैं वित्त मंत्री हूँ, अभी मैं ना तो पूर्व मंत्री बना हूँ, ना ही 80 वर्ष की उम्र में किसी पद का लालच करने वाला इंसान हूँ और ना ही पैसे कमाने के लिए अख़बारों में कॉलम लिखने की आदत रखता हूँ.

अरुण जेटली ने बिना यशवंत सिन्हा का नाम लिए कहा कि वे कांग्रेस पार्टी के नेता और पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम के पीछे पीछे चल रहे हैं और भूल गए हैं कि वे दोनों कभी एक दूसरे के खिलाफ कड़वे बोल बोलते थे. जेटली ने कहा कि यशवंत सिन्हा 1991 की उस पालिसी पैरालिसिस को भी भूल गए जिसकी वजह से 4 बिलियन डॉलर विदेशी मुद्रा का रिज़र्व हो चुका था.

अरुण जेटली ने कहा कि यशवंत सिन्हा नौकरी पाने की लालसा में UPA2 में नीतिगत शिथिलता को भूल गए हैं, वे बहुत ही आसानी से 1998 से 2002 के NPA को भूल गए हैं, उस समय सिन्हा ही वित्त मंत्री थे, वे 1991 बचे चार अरब डॉलर के विदेशी मुद्रा भण्डार को भी भूल गए. अब वे पाला बदलकर नीतिगत व्याख्या कर रहे हैं, वह ऐसे टिप्पड़ियों के जरिये नौकरी ढूंढ रहे हैं.

इससे पहले यशवंत सिन्हा ने जेटली के ऊपर बड़ा हमला करते हुए कहा था कि मोदी जी ने बचपन में गरीबी देखी है, लेकिन जेटली जी पूरे देश को गरीबी दिखाएंगे. मोदी सरकार ने नोटबंदी करके देश की अर्थव्यवस्था को बड़ा झटका दिया था लेकिन जेटली ने आनन फानन में GST लागू करके दूसरा झटका दे दिया जिसकी वजह से आर्थिक हालत चरमरा गयी.

उन्होंने कहा कि मोदी सरकार 40 महीनें से सत्ता में है इसलिए अब कोई बहाना नहीं बना सकती, देश की अर्थयवस्था की हालत सही नहीं है, GDP लगातार गिरती जा रही है, युवाओं के पास कोई रोजगार नहीं है. मेरे पास कई लोग नौकरी के लिए आते हैं लेकिन कहीं नौकरी ही नहीं है तो उन्हें कहाँ लगवाएं.
नीचे कमेन्ट बॉक्स में अपनी राय लिखें
पोस्ट शेयर करें और फेसबुक पेज LIKE करें
loading...

0 comments: