Aug 13, 2017

गोरखपुर में बच्चों की मौत के विलेन डॉ काफ़िल खान के बारे में कई चौंकाने वाले खुलासे: पढ़ें


yogi-adityanath-suspend-dr-kafil-khan-from-brd-medical-college

गोरखपुर में दर्जनों मासूम बच्चों की असमय मौत पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का एक्शन शुरू हो गया है. आज उन्होंने गोरखपुर BRD मेडिकल कॉलेज का दौरा करके हॉस्पिटल के इंचार्ज काफ़िल खान को सस्पेंड कर दिया क्योंकि काफ़िल खान ही Encephalitis वार्ड के इंचार्ज थे और उन्हीं की देख रेख में बच्चों का इलाज चल रहा था, उन्हें सही समय पर ऑक्सीजन सप्लाई बाधित होने की रिपोर्ट देनी चाहिए थी लेकिन उन्होंने ऐसा कुछ नहीं किया और मासूम बच्चों को मरता हुआ देखते रहे.

अब तक इस बीमारी में पांच दिनों में 68 लोगों की मौत हुई है जिसमें से कम से कम 10-12 बच्चे ऑक्सीजन की कमीं से ख़त्म हुए है. अगर हॉस्पिटल में ऑक्सीजन की सप्लाई बाधित ना हुई होती तो कम से कम 10-12 बच्चे आज भी जीवित होते और विभाग का इंचार्ज होने के नाते काफ़िल खान की ड्यूटी बनती थी कि वह सही समय पर ऑक्सीजन की कमीं की रिपोर्ट जारी करते लेकिन उन्होंने ऐसा कुछ नहीं किया.

यह भी खबर आ रही है कि डॉ काफ़िल खान हॉस्पिटल के अलावा अपना क्लिनिक चलाते हैं और वहां भी काफी समय देते हैं. उन्होंने बहुत ही चालाकी से यह क्लिनिक अपनी पत्नी के नाम पर खुलवा रखा हिया लेकिन बैठते खुद हैं. यह भी हो सकता है घटना के दिन हॉस्पिटल में मौजूद ही ना रहे हों. वैसे आपकी जानकारी के लिए बता दें कि सरकारी अस्पताल में काम करने के बाद प्राइवेट क्लिनिक चलाने पर पाबंदी है लेकिन काफ़िल खान सरकारी अस्पताल से अधिक समय अपने क्लिनिक पर देते हैं.
नीचे कमेन्ट बॉक्स में अपनी राय लिखें
पोस्ट शेयर करें और फेसबुक पेज LIKE करें
loading...

0 comments: