Aug 25, 2017

तीन तलाक़ और हलाला के समर्थक प्रधान न्यायादीश जगदीश सिंह खेहर का आज ऑफिस में अंतिम दिन


triple-talaq-supporter-chief-justice-jagdish-singh-khehar-retire

भारत के प्रधान न्यायाधीश जगदीश सिंह खेहर भले ही 27 अगस्त को रिटायर होंगे लेकिन दो दिन छुट्टी होने की वजह से आज उनका अंतिम दिन था. कल से वे कोई फैसला नहीं सुना सकेंगे अंतिम फैसले में उनकी हार हुई है क्योंकि वे तीन तलाक को बचा नहीं पाए. आपको बता दें कि तीन तलाक पर फैसला सुनाने वाली पांच जजों की बेंच में प्रधान न्यायाधीश जगदीश सिंह खेहर भी थे, इन्होने मुस्लिम जज नजीर के साथ तीन तलाक का समर्थन किया था लेकिन तीन अन्य जजों ने तीन तलाक को असंवैधानिक बताया था. जगदीश सिंह खेहर तीन तलाक को ख़त्म होने से नहीं रोक सके लेकिन उसके बावजूद भी उन्होंने फैसला सुनाते वक्त तीन तलाक की तारीफ की.

खैर अब जगदीश सिंह खेहर रिटायर हो रहे हैं तो आज उन्होने फेयरवेल भाषण में अपनी सफलता का क्रेडिट अपने माता-पिता, शिक्षकों और सीनियर साथियों को दिया.

खेहर ने कहा कि जब मैंने हाई कोर्ट के जज के रूप में अपनी पहले सैलरी उठाई थी तो मेरे पिता जी की पेंशन मेरी सैलरी से अधिक थी, मैंने अपने पिताजी से बहुत कुछ सीखा है. मेरी माँ ने भी हमारी ख़ुशी के लिए काफी वलिदान दिया है. मैं सभी लोगों का शुक्रिया अदा करता हूँ.
नीचे कमेन्ट बॉक्स में अपनी राय लिखें
पोस्ट शेयर करें और फेसबुक पेज LIKE करें
loading...

1 comment: