Aug 13, 2017

संबित पात्रा बोले, बुरहान हो या दुजाना, मारेंगे एक रोजाना, सबको भेजेंगे 72 हूरों के पास


sambit-patra-said-burhan-ho-ya-dujana-maarenge-ek-rojana-72-hoor

आज कश्मीर के शोपियां में सेना के जवानों ने 4 आतंकियों को ठोंक दिया. जैसे ही बीजेपी नेता संबित पात्रा ने यह खबर सुनी, वे जोश में आ गए और धमाकेदार बयान दे दिया. उन्होंने इंडिया टीवी के एक कार्यक्रम वन्दे मातरम इंडिया टीवी में कहा कि बुरहान हो या दुजाना, मारेंगे एक रोजाना, सबको भेजेंगे 72 हूरों के पास.

संबित पात्रा ने कहा कि जो जम्मू कश्मीर की समस्या है, यहाँ पर जो आतंकवाद है यह बीजेपी और पीडीपी के गठबंधन से नहीं हुआ है, यह तो 20 वर्षों से चला आ रहा है. हजारों लाखों लोग मारे गए हैं. जम्मू कश्मीर में एक कहावत है, अगर आप समस्या को सुलझाना चाहते हैं तो पहले समस्या के बारे में जानकारी होनी चाहिए, मैं एक सर्जन हूँ अगर मैं Diagnosis नहीं करूँगा तो ऑपरेशन किस चीज का करूँगा.

संबित पात्रा ने कहा कि पहले Diagnosis कर लीजिये कि कश्मीर में हो क्या रहा है. यहाँ की Diagnosis है रेडिकल इस्लाम यानी कट्टरपंथी इस्लाम. यह बात हर कोई मुंह खोलने से थरथराते हैं और सोचते हैं कि भैया अगर हम ये बोलेंगे तो हमारे वोट कट जाएंगे. संबित पात्रा ने कहा कि अगर आप नहीं बोलेंगे, अगर आप सच नहीं बोलेंगे तो आप उस युद्ध में जीत ही नहीं पाएंगे.

संबित पात्रा ने कहा कि जम्मू कश्मीर की जो सूफिज्म थी, जो सबको साथ लेकर चलने वाली संस्कृति थी, उसे बहुत ही सोच समझकर 30 वर्षों में साजिश के तहत ख़त्म किया गया और वहां पर वहाबी विचारधारा को फैलाया गया और देश से अलग करने का प्रयास किया गया.

संबित पात्रा ने कहा कि अभी अभी दुजाना मारा गया, दुजाना यहाँ पर क्या कर रहा था. उसको यहाँ जमीन पर भी 72 हूर चाहिए और बाकी लोगों को मार मारकर आसमान में भी 72 हूर चाहिए. यहाँ भी 72 हूर वहां भी 72 हूर. ये लोग उसी के लिए यहाँ पर लड़ाई कर रहे हैं. 

संबित पात्रा ने कहा कि आर्मी ने यहाँ पर चेतावनी दी है कि हम उन्हें ख़त्म कर देंगे, मैं भी कहता हूँ कि सरकार का ऐलान है - बुरहान हो या दुजाना, मारेंगे एक रोजाना. एक एक को रोजाना पकड़ पकड़ कर मारेंगे. क्या सोचकर रखा है हिंदुस्तान को आपने. आप यहाँ पर खाएंगे और बन्दूक उठाकर हमारी आर्मी के ऊपर हमला करेंगे.
नीचे कमेन्ट बॉक्स में अपनी राय लिखें
पोस्ट शेयर करें और फेसबुक पेज LIKE करें
loading...

0 comments: