Aug 1, 2017

गुजरात राज्य सभा चुनाव में EC ने दिया NOTA का विकल्प, सुनकर कांग्रेस के पैरों तले खिसकी जमीन


nota-option-in-gujarat-rajya-sabha-election-congress-protest

कांग्रेस पार्टी के लिए एक और बुरी खबर आ गयी है, गुजरात में 8 तारीख को राज्य सभा चुनाव होने वाले हैं, कांग्रेस की जान पहले से ही सूखी पड़ी है, उनके पास पहले से ही नंबरों का टोटा है, अपने विधायकों को गुजरात से बैंगलोर भगाना पड़ा है, अब उनके लिए एक और मुसीबत आ गयी है, आज चुनाव आयोग ने राज्य सभा चुनाव में नोटा का विकल्प दे दिया है. मतलब अगर कांग्रेस के एक भी विधायक ने NOTA का बटन दबा दिया तो कांग्रेस के दिग्गज नेता अहमद पटेल का खेल खराब हो जाएगा और वे राज्य सभा नहीं पहुँच पाएंगे.

आज कांग्रेस बहुत परेशान है, कांग्रेस के सांसद आनंद शर्मा ने मीडिया से बातचीत करते हुए कहा कि EC का यह फैसला गलत है, बिना संविधान में संशोधन के राज्य सभा चुनाव में नोटा का विकल्प नहीं दिया जा सकता, ऐसा करके चुनाव आयोग ने संविधान के आर्टिकल 84 का उल्लंघन किया है.

उन्होंने यह भी कहा कि चुनाव आयोग NOTA का विकल्प देकर पार्टी का अनुशासन तोड़ने को बढ़ावा दे रही है, पहले विधायकों को अपनी पार्टी के सदस्य को वोट देना जरूरी था लेकिन अब उन्हें NOTA का आप्शन दे दिया गया, अगर वे NOTA का बटन दबाएंगे तो पार्टी का अनुशासन तोड़ेंगे और यह सब चुनाव आयोग की वजह से होगा.

NOTA की वजह से कांग्रेस को अपनी हार साफ़ दिख रही है क्योंकि कांग्रेस के विधायक पहले से ही बीजेपी में जा रहे हैं, इसी डर से उन्हें बैंगलोर के एक होटल में ले जाकर कैद कर दिया गया, अब अगर उनमें से कुछ का भी जमीर जाग गया तो वे नोटा का बटन दबा देंगे, अगर तीन चार ने भी ऐसा कर दिया तो कांग्रेस का सारा ताम झाम खराब हो जाएगा और अहमद पटेल चुनाव हार जाएंगे, कांग्रेस पार्टी ने अपने विधायकों को बैंगलोर ले जाने और फाइव स्टार होटल में उनके ऐशो आराम के लिए करोड़ों रुपये खर्च किये हैं, वे पैसे भी बेकार जाएंगे.
नीचे कमेन्ट बॉक्स में अपनी राय लिखें
पोस्ट शेयर करें और फेसबुक पेज LIKE करें
loading...

0 comments: