Aug 8, 2017

महबूबा नहीं चाहतीं कि कश्मीर में कोई अन्य भारतीय बसे, घर खरीदे, जिन्दगी जिए: पढ़ें क्यों


mehbooba-mufti-dont-want-indian-citizen-to-by-house-in-kashmir

भारत सरकार और करोड़ों भारतीय चाहते हैं कि कश्मीर से आर्टिकल 35(A) हटे, कश्मीर में भी लोग घर घरीद सकें, वहां पर अपनी जिन्दगी जी सकें लेकिन कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ़्ती नहीं चाहतीं कि कश्मीर से आर्टिकल  35(A) हटाया जाय. मतलब महबूबा मुफ़्ती ये नहीं चाहतीं कि पंजाब, हरियाणा, दिल्ली या अन्य राज्यों का कोई भी निवासी कश्मीर में घर खरीद सके और वहां का परमानेंट निवासी बन सके इसीलिए महबूबा मुफ़्ती ने आर्टिकल 35(A) पर राजनीति तेज कर दी है.

सुप्रीम कोर्ट में आर्टिकल 35(A) हटाने को लेकर बहस चल रही है लेकिन महबूबा मुफ़्ती ने इस बहस के खिलाफ अभियान तेज कर दिया है, महबूबा मुफ़्ती पहले भी कह चुकी हैं कि अगर कश्मीर से आर्टिकल 35(A) हटाया गया तो कश्मीर में तिरंगे को कोई कांधा देने वाला नहीं रहेगा, मतलब देशद्रोह शुरू हो जाएगा और महबूबा मुफ़्ती भी देशद्रोही बनकर पाकिस्तान का समर्थन करना शुरू कर देंगी, महबूबा मुफ़्ती ने कुछ ही दिन पहले ये धमकी दी है.

आज भी महबूबा मुफ़्ती ने कश्मीर में एक रैली में कहा कि आर्टिकल 35(A) हटाने पर बहुत गंभीर परिणाम होंगे इसलिए पहले हमें अपना विशेष अधिकार बचाना है, आपको बता दें कि आर्टिकल 35(A) जम्मू कश्मीर सरकार को विशेष अधिकार देता है जिसके तहत सरकार ही कश्मीर के निवासियों को परमानेंट नागरिकता प्रदान करती है, मतलब जब तक सरकार नहीं चाहेगी हरियाणा या अन्य राज्यों का कोई भी निवासी कश्मीर में ना तो घर खरीद सकता है और ना ही वहां का स्थायी निवासी बन गकता है.

महबूबा मुफ़्ती ने अपने इसी अधिकार को बचाने के लिए आन्दोलन तेज कर दिया है, अगर आर्टिकल 35(A) हटा दिया गया तो कोई भी कश्मीर में घर खरीद सकेगा और इसके लिए उसे महबूबा की परमिशन नहीं लेनी पड़ेगी, महबूबा यही तो नहीं चाहतीं. महबूबा ने आज कहा कि कश्मीर सरकार को यह अधिकार 1947 में मिला था और इसे बचाकर रखना हमारा पहला फर्ज है, मतलब आर्टिकल 35A बचाने के लिए अगर महबूबा मुफ़्ती को सरकार भी गंवानी पड़ी तो शायद वे पीछे नहीं हटेंगी और इसके लिए बीजेपी से गठबंधन भी तोड़ देंगी.
नीचे कमेन्ट बॉक्स में अपनी राय लिखें
पोस्ट शेयर करें और फेसबुक पेज LIKE करें
loading...

1 comment:

  1. These leaders do not want any permanent solution of the Kashmir problem.Why now Mrs.Mufti is meeting with those leaders who were against of her Government.She is also against of arrests made by NIA and wish a dialogue with them.They are the persons who are getting huge amount of money from Pakistan to create disturbances and stone pelting in Kashmir valley.When Kashmir is an integral part of the country then everybody must have a right to reside there.why seperate constitution for this state?

    ReplyDelete