Aug 30, 2017

कपिल मिश्रा ने जो कहा था वही किया, केजरीवाल-सत्येन्द्र जैन को साबित किया बंटी-बबली: पढ़ें


kapil-mishra-proved-kejriwal-banti-satyendra-jain-is-babali-news

दिल्ली के पूर्व जल मंत्री कपिल मिश्रा ने मुख्यमंत्री केजरीवाल और आम आदमी पार्टी के अन्दर जलजला ला दिया है. खुद को बचाने के लिए केजरीवाल और उनके मंत्री सत्येन्द्र जैन को सैकड़ों जतन करने पड़ रहे हैं. कल कपिल मिश्रा ने केजरीवाल और सत्येन्द्र जैन को दिल्ली का बंटी और बबली बताया था. सबूत दिखाने की भी बात की थी, आज उन्होंने केजरीवाल को बंटी और सत्येन्द्र जैन को बबली साबित किया.

कपिल मिश्रा ने बताया कि किस तरह से केजरीवाल ने अपनी साली के दामाद निकुंज अग्रवाल को हेल्थ मिनिस्टर सत्येन्द्र जैन का OSD नियुक्त कर दिया और किस तरह से सत्येन्द्र जैन ने अपनी बेटी सौम्या जैन को मोहल्ला क्लिनिक प्रोजेक्ट का चीफ आर्किटेक्ट और दिल्ली सरकार का सलाहकार नियुक्त किया था.

केजरीवाल हैं बंटी

कपिल मिश्रा ने कहा कि केजरीवाल ने अपनी साली के दामाद निकुंज अग्रवाल की जिस तरह से नियुक्ति की वह किसी परी कथा जैसा लगता है. निकुंज अग्रवाल दिल्ली सरकार के नेहरु अस्पाल में चट्ठी भेजते हैं कि हम यहाँ पर सीनियर रेजिडेंट की पोस्ट पर काम करना चाहते हैं, मजे की बात यह है कि उस समय सीनियर रेजिडेंस की पोस्ट खाली नहीं थी, ना कोई नौकरी का विज्ञापन दिया गया था, ना कोई इंटरव्यू, ना कोई परीक्षा, उनके चिट्ठी लिखते ही उन्हें नौकरी दे दी गयी. सीनियर रेजिडेंस की नियुक्ति के कुछ दिनों बाद उन्हें मुख्यमंत्री का OSD नियुक्त कर दिया गया. उसके बाद निकुंज अग्रवाल को सरकार खर्चे पर बाहर भेजा जाने लगा.

कपिल मिश्रा ने कहा कि केजरीवाल अपनी साली के दामाद से इतना प्यार करते हैं जितना सोनिया गाँधी अपने दामाद रॉबर्ट वाड्रा से भी नहीं करती होंगी. एक तरफ केजरीवाल कहते हैं कि उनके पास पेन खरीदने की भी ताकत नहीं है, लेकिन दूसरी तरफ अपनी साली के दामाद और मंत्री की बेटी को बड़ी नौकरी पर रख लेते हैं.

सत्येन्द्र जैन हैं बबली

कपिल मिश्रा ने यह भी बताया कि सत्येन्द्र जैन ने अपनी बेटी को मोहल्ला क्लिनिक प्रोजेक्ट में कैसे सेट किया और उन्हें दिल्ली सचिवालय की 9वीं बिल्डिंग पर 7 स्टाफ के साथ ऑफिस भी दे दिया. उन्होंने बताया कि सत्येन्द्र जैन की बेटी सौम्या जैन की उम्र 26 साल है और वह पेशे से आर्किटेक्ट हैं. उनके पापा मंत्री हैं इसलिए वे भी मोहल्ला क्लिनिक प्रोजेक्ट में दिल्ली सरकार की सलाहकार बन गयीं.

उनकी नियक्ति के लिए भी ना कोई विज्ञापन दिया गया, ना इंटरव्यू लिया गया, ना परीक्षा हुई, बड़ी ही सादगी से इमानदारी पूर्वक एक आर्डर निकाला गया और बिटिया रानी की तमन्ना पूरी कर दी गयी. 
नीचे कमेन्ट बॉक्स में अपनी राय लिखें
पोस्ट शेयर करें और फेसबुक पेज LIKE करें
loading...

0 comments: