Aug 2, 2017

पढ़ें क्या है चोटियों के काटने का मामला, जिसनें मचा दिया हडकंप


gurugram-women-hair-choti-kutting-case-what-is-real-story
तस्वीरें सोशल मीडिया से
नई दिल्ली: दिल्ली सहित हरियाणा और यूपी आस पास में महिलाओं की चोटियाँ कटने की घटना ने हडकंप मचा दिया है. राजस्थान, हरियाणा और दिल्ली में चोटी काटने के एक दो नहीं कई दर्जन मामले सामने आ चुके हैं। डेढ़ दर्जन के करीब मामले तो गुरुग्राम और फरीदाबाद से सामने आये हैं। एक बड़े अखबार NBT मुताबिक़ फरीदाबाद के सीकरी गांव में एक महिला की चोटी रविवार को कटी है तो फरीदाबाद लोकसभा क्षेत्र के हथीन इलाके में कई मामले सामने आ चुके हैं, मलाई गांव में सोमवार दिन में ही नुसरत की पत्नी इनाम की चोटी कट गई। घटना के बाद इनाम बेहोश हो गईं, जिसके बाद ग्रामीणों की भीड़ जमा हो गई। बहीन निवासी बच्चू और उसके बड़े भाई भगत सिंह की बेटियों की चोटियां भी कट गईं। ग्रामीणों ने बताया कीर्ति और आरती परिजनों के पास सोई थीं, सोमवार सुबह उठने पर उनकी चोटी कटी हुई थी। इसी गांव में सरोज नाम की महिला की भी रात में सोते समय चोटी काट दी गई।

घटना के बाद सरोज को तेज बुखार चढ़ गया, जिसके बाद सरोज को देखने के लिए लोगों की भीड़ उमड़ पड़ी। इसी प्रकार गांव कुकर चाटी में शबाना, रुकसीना और इस्लामी की चोटियां कट गईं। रनियाला खुर्द गांव में आमीना नाम की विवाहिता अपने मायके आई हुई थीं। रात को वह पति के साथ चारपाई पर बैठी हुई थीं। इस बीच रात करीब 11 बजे उनकी चोटी कट गई, जिसके बाद वे बेहोश हो गईं। इलाज के लिए आमीना को नल्हड़ मेडिकल कॉलेज ले जाया गया। गांव खाईका में आजाद की पत्नी अरसिना की भी चोटी कट गई। अरसिना ने बताया कि खाना बनाते समय बिल्ली दिखाई दी, जिसके बाद चोटी कट गई। गांव के सरपंच इकबाल ने बताया की अरसिना घटना के बाद बेहोश हो गईं। हथीन के कई मामले पुलिस के लिए सिर दर्द बने हैं तो गुरुग्राम में भी कई चोटी काटने के मामले सामने आये हैं। गुरुग्राम पुलिस के मुताबिक़ गुड़गांव के राजेंद्रा पार्क और देवीलाल नगर में रविवार रात दो महिलाओं की चोटियां काट दी गईं। तावड़ू में भी 2 महिलाओं की चोटी काटने से गांवों में दहशत का माहौल है। इसके अलावा रेवाड़ी में एक स्टूडेंट समेत 4 की चोटी काट दी गई। हरियाणा के अन्य जिले से भी चोटी काटने की बारदातें सामने आ रहीं हैं। क्या ये अफवाह है या हकीकत पुलिस मामले की तह तक जाने का प्रयास कर रही है। 

एक छोटी से कहानी पढ़ें कहीं इस कहानी का चोटी काटने से तो कोई ताल्लुक नहीं है ,एक व्यक्ति दौड़ा हुआ कहीं जा रहा था अचानक किसी पत्थर से टकराकर गिर गया। व्तक्ति कुछ ऐसा गिरा कि उसकी नाक कट गई। कटी नाक लेकर जब वो अपने गांव पहुंचा तो लोग उसे देख हंसने लगे, कुछ लोगों ने पूंछा कि आपकी नाक कैसे कटी तो उस व्यक्ति ने ये न बताकर कि गिरने से कटी है बहाना बना दिया और बोला कि मैंने अपने आप अपनी नाक काटी है क्यू कि जो नाक काटता है उसे भगवान् दीखते हैं और बहुत सारा खजाना देते हैं ,ये बात सुन लोग वहां से चले गए और अगले दिन कई लोगों ने अपनी नाक काट ली लेकिन किसी को न भगवान् मिले न खजाना फिर भी शर्म के मारे वो लोग झूंठ बोलते गए कि हाँ भगवान् मिले हैं और खजाना भी मिला है ,,धीरे-धीरे ये बात आस पास गए गांव में फ़ैल गई और कई गांव के लोगों ने अपनी नाक काट ली, फिर ये अफवाह और दूर तक पहुँची और सैकड़ों लोगों ने नाक काट ली, इस तरह पूरे जिले के लोग नक्कटे हो गए, लगता है बहुत बड़ी शरारत हुई है जिस कारण ये घटनाएं हो रहीं हैं। 
(तस्वीर सोशल मीडिया के माध्यम से)
नीचे कमेन्ट बॉक्स में अपनी राय लिखें
पोस्ट शेयर करें और फेसबुक पेज LIKE करें
loading...

0 comments: