Aug 9, 2017

BJP के खिलाफ तुरंत एक्शन लेता है चुनाव आयोग, AAP के 21 विधायकों पर फैसला ही नहीं ले पा रहा


chunav-ayog-taking-strict-action-on-bjp-but-not-other-parties

2017 विधानसभा के बाद आम आदमी पार्टी, कांग्रेस, बहुजन समाज पार्टी सहित कई राजनीतिक पार्टियों ने चुनाव आयोग पर मोदी सरकार का एजेंट बनकर EVM टेम्परिंग का आरोप लगाया था, ये बहुत ही गंभीर आरोप था लेकिन चुनाव आयोग खामोश रहा क्योंकि इन आरोपों से चुनाव आयोग की कम बल्कि मोदी सरकार और बीजेपी वालों की अधिक बदनामी होती थी, चुनाव आयोग ने उन राजनीतिक पार्टियों पर कोई एक्शन नहीं लिया जबकि ये लोग चुनाव आयोग का अपमान करते रहे.

जब राष्ट्रपति चुनाव का दिन आया तो उसके एक ही दिन पहले चुनाव आयोग ने बीजेपी विधायक नरोत्तम मिश्रा को तीन वर्षों के लिए सस्पेंड कर दिया ताकि वे राष्ट्रपति चुनाव में वोट ना दे सकें, कल गुजरात में राज्य सभा चुनाव हुआ तो कांग्रेस की मांग पर चुनाव आयोग ने बीजेपी के दो वोटों को रद्द कर दिया जिसकी वजह से बीजेपी की हार हो गयी और कांग्रेस उम्मीदवार अहमद पटेल चुनाव जीत गए.

देखने में आ रहा है कि चुनाव आयोग बीजेपी के खिलाफ तुरंत ही एक्शन ले रहा है जबकि अन्य राजनीतिक पार्टियों पर कोई एक्शन नहीं लेता, बीजेपी वालों ने भी कल कांग्रेस के एक विधायक का वोट रद्द करने की मांग की थी लेकिन चुनाव आयोग ने बीजेपी वालों की बात नहीं मानी जबकि ऐसे ही मामले में कांग्रेस की बात मानकर बीजेपी के दो वोटों को रद्द कर दिया.

यही नहीं, AAP के 21 विधायकों को संसदीय सचिव बनाने के मामले में भी चुनाव आयोग कोई एक्शन नहीं ले पा रहा है जबकि बीजेपी के खिलाफ तुरंत एक्शन ले लिया जाता है, अगर ऐसा काम बीजेपी वालों ने किया होता तो शायद चुनाव आयोग अब तक सभी को बर्खास्त कर चुका होता जैसा उन्होंने नरोत्तम मिश्रा को किया है.

अब तक कांग्रेस और अन्य विपक्षी पार्टियाँ चुनाव आयोग पर मोदी और बीजेपी एजेंट होने का आरोप लगाती थीं, स्वयं कांग्रेस चुनाव आयोग पर ऐसे आरोप लगाती थी और हाल ही में उन्होंने मोदी के साथ मिलकर EVM टेम्परिंग के भी आरोप लगाए थे लेकिन आज चुनाव आयोग ने साबित कर दिया है कि वो ना तो बीजेपी का एजेंट है और ना मोदी का. वहां पर सिर्फ और सिर्फ कांग्रेस की सुनी जाती है और बीजेपी की तो सुनी ही नहीं जाती.
नीचे कमेन्ट बॉक्स में अपनी राय लिखें
पोस्ट शेयर करें और फेसबुक पेज LIKE करें
loading...

0 comments: