Aug 29, 2017

गोरखपुर कांड करने वाले पति-पत्नी योगी सरकार से बचकर भाग रहे थे, पुलिस ने दौड़कर दबोच लिया: पढ़ें


brd-hospital-principal-rajiv-mishra-and-wife-purnima-shukla-arrested

गोरखपुर कांड में 9 लोगों के खिलाफ पुलिस ने FIR दर्ज की है. FIR दर्ज होते ही ये सभी लोग फरार हो गए हैं क्योंकि इन्हें पता चल चुका है कि अब ये बचने वाले नहीं हैं. ये आरोपी हैं - मेडिकल कॉलेज के प्रिंसिपल राजीव मिश्रा, ऑक्सीजन सप्लाई रोकने वाली कंपनी पुष्पा सेल्स, ऑक्सीजन सप्लाई इंचार्ज डॉ सतीश, एक्यूट एनसिफिलिटिस वार्ड के इंचार्ज डॉ कफील खान, डॉ राजीव मिश्रा की पत्नी डॉ पूर्णिमा शुक्ला, मेडिकल कॉलेज के चीफ फार्मासिस्ट गजानन जैसवाल, एक अकाउंटेंट और कुछ अन्य हैं. इस वक्त सभी आरोपी फरार हैं लेकिन पुलिस उनकी गिरफ्तारी का प्रयास कर रही है.

आज पुलिस को बड़ी कामयाबी हाथ लगी है. गोरखपुर कांड के मुख्य आरोपी BRD मेडिकल कॉलेज के प्रिंसिपल राजीव मिश्रा और उनकी पत्नी डॉ पूर्णिमा शुक्ला पुलिस से डरकर भाग रही थीं लेकिन STF ने दोनों को कानपुर में गिरफ्तार कर लिया. दोनों को पकड़कर गोरखपुर ले जाया जा रहा है. कहा जा रहा है कि पूर्णिमा शुक्ला ही अस्पताल की मुख्य डॉन थें और अन्य सभी लोग उनके इशारे पर चलते थे.

gorakhpur-kand-rajiv-mishra-purnima-shukla-arrested

आपको बता दें कि गोरखपुर BRD मेडिकल कॉलेज में घूस और रिश्वतखोरी का मकड़जाल बिछा हुआ था, हर चीज में कमीशन चलती थी, हर पेमेंट के लिए घूस माँगा जाता था, जो लोग घूस नहीं देते थे उनकी भी पेमेंट रोक दी जाती थी, इसी तरह से ऑक्सीजन सप्लायर कंपनी पुष्प सेल की भी पेमेंट रोकी गयी थी, अस्पताल के प्रिंसिपल और डॉ कफील खान घूस मांग रहे थे इसी वजह से ऑक्सीजन सप्लायर की पेमेंट नहीं की, जब ऑक्सीजन सप्लायर को पेमेंट नहीं मिली तो उसनें सप्लाई रोक दी और ऑक्सीजन की कमीं से 33 बच्चे तड़प तड़प कर मर गए.
नीचे कमेन्ट बॉक्स में अपनी राय लिखें
पोस्ट शेयर करें और फेसबुक पेज LIKE करें
loading...

0 comments: