Aug 28, 2017

अटल ने बाबा के खिलाफ शिकायत सुनी, मोदी ने जेल पहुँचाया, बीच के 10 साल कांग्रेस ने कुछ नहीं किया


atal-order-baba-cbi-enquiiry-modi-sent-jail-congress-10-year-nothing

2001 में बाबा राम रहीम ने दो साध्वियों का रेप और यौन शोषण किया था लेकिन उस वक्त हरियाणा में इनेलो की सरकार थी इसलिए बाबा के खिलाफ साध्वियों की शियाकत किसी ने नहीं सुनी, हर जगह से थक हारकर साध्वी ने 2002 में तत्कालीन प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी को पत्र लिखा और पूरी कहानी बयान कर दी. अटल बिहारी ने तुरंत ही इस मामले की CBI जांच का आदेश दे दिया. 

दुर्भाग्य ने अटल बिहारी वाजपयी 2004 में चुनाव हार गए और बीजेपी के स्थान पर 10 साल तक कांग्रेस सरकार रही. CBI केंद्र सरकार के अधीन होती है इसलिए बाबा के खिलाफ जांच भी बंद हो गयी. राज्य में भी 10 साल तक कांग्रेस सरकार रही इसलिए इस मामले में कोई कार्यवाही नहीं हुई.

2014 में केंद्र में फिर से मोदी सरकार आ गयी और राज्य में भी बीजेपी सरकार आ गयी, दोनों जगह बीजेपी सरकार आने से फिर से बाबा की फाइल खुल गयी. जांच पूरी करके CBI ने आज बाबा राम रहीम को रेप के दोनों मामलों में 10-10 साल, कुल 20 साल की सजा सुना दी. हालाँकि बाबा को जेल भेजने के लिए केंद्र और राज्य सरकार को कड़ी मशक्कत करनी पड़ी और बाबा के 38 समर्थकों को गोली मारनी पड़ी, यही नहीं सभी जिलों में सेना और पैरा-मिलिट्री फ़ोर्स तैनात करनी पड़ी.

कहने का मतलब ये है कि बीजेपी सरकारों में अपराधियों की आफत आ जाती है जबकि कांग्रेस सरकार में उनकी मौज रहती है, बाबा राम रहीम की ताकत कांग्रेस के 10 साल के शासन में इतनी बढ़ गयी कि ये 200 गाड़ियों के काफिले में चलने लगे, इतनी गाड़ियाँ प्रधानमंत्री मोदी और अमेरिका के राष्ट्रपति बराक ओबामा के साथ भी नहीं चलती होंगी. इसके अलावा बाबा राम रहीम के काफिले में पांच कारें एक जैसी होती थीं, जब उनका काफिला रुकता था तो पाँचों कारें काले कपडे से ढक दी जाती थीं. किसी को पता नहीं चल पाता था कि बाबा राम रहीम किस कार से उतरे हैं. इन्हीं सब चीजों ने बाबा राम रहीम का घमंड सातवें आसमान पर पहुंचा दिया था और वे खुद को भगवान समझने लगे थे लेकिन आज उन्हें मोदी और खट्टर ने मिलकर जेल पहुंचा दिया. अगर अब तक हरियाणा और केंद्र में कांग्रेस की सरकार होती तो वे 200 की जगह 400 गाड़ियों के काफिले में चलते और व्यवस्था का मजाक उड़ाते रहते.
नीचे कमेन्ट बॉक्स में अपनी राय लिखें
पोस्ट शेयर करें और फेसबुक पेज LIKE करें
loading...

0 comments: