Aug 18, 2017

अखिलेश यादव को पंसद नहीं आयी योगी की नमाज और कृष्ण जन्माष्टमी वाली बात, पढ़ें क्या दिया जवाब


akhilesh-yadav-criticize-yogi-comment-on-namaaj-and-janmashtmi

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का नमाज, कृष्ण जन्माष्टमी और कांवड़ यात्रा पर दिया गया बयान पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव को पंसद नहीं आया है. आज अखिलेश यादव ने योगी आदित्यनाथ पर अपनी खुंदक निकालते हुए कहा कि मुख्यमंत्री पहले नया भारत बनाने की बात कर रहे थे लेकिन अब नमाज और कृष्ण जन्माष्टमी की बात कर रहे हैं, मेरा मानना है कि नमाज और कृष्ण जन्माष्टमी से बात नहीं बनेगी.

अखिलेश यादव ने योगी के बयान का जवाब देते हुए कहा कि अगर भविष्य में हमारी सरकार आयी तो हम यूपी के सभी  थानों में हर साल क्रिसमस, ईद, दिवाली और अन्य त्योहारों के लिए 5 लाख रुपये बाटेंगे.

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि अखिलेश यादव की सरकार ने उत्तर प्रदेश के थानों में कृष्ण जन्माष्टमी ना मनाने का फरहान सुनाया था जिसे योगी सरकार ने रद्द कर दिया. उन्होंने कहा कि जब मैं लोगों को खुली सड़क पर नमाज पढने से नहीं रोक सकता तो थानों में कृष्ण जन्माष्टमी मनाने से कैसे रोक सकता हूँ. अब से यूपी में किसी भी चीज पर पाबन्दी नहीं है.

अखिलेश ने कांवड़ यात्रा में डीजे और लाउड स्पीकर पर भी प्रतिबन्ध लगा रखा था, योगी ने उसे भी रद्द कर दिया. उन्होंने कहा कि अगर कांवड़ यात्रा में डीजे नहीं बजेंगे, बैंड नहीं बजेंगे, ढोल नहीं बजेगा और डमरू नहीं बजेंगे, अगर लोग नाचेंगे गाएंगे नहीं तो यह कांवड़ यात्रा नहीं बल्कि शव यात्रा बन जाएगी इसलिए आज से कांवड़ यात्रा से भी हर तरह का प्रतिबन्ध हटाया जाता है.

योगी आदित्यनाथ के इस ऐलान से राज्य के अखिलेश सरकार से असंतुष्ट लोग खुश हो गए थे क्योंकि अखिलेश सरकार में यूपी के इस्लामीकरण का आरोप लगा रहा था, हिन्दू त्योहारों पर पाबन्दी लगाई जा रही थी, मंदिरों से घंटियाँ उतरवाई जा रही थीं लेकिन योगी ने कहा कि अब मेरी सरकार है इसलिए उत्तर प्रदेश में सभी लोगों को धार्मिक आजादी होगी, अब किसी पर प्रतिबन्ध नहीं रहेगा और अगर प्रतिबन्ध रहेगा तो सभी धर्मों पर प्रतिबन्ध लगेगा.
नीचे कमेन्ट बॉक्स में अपनी राय लिखें
पोस्ट शेयर करें और फेसबुक पेज LIKE करें
loading...

0 comments: