Jul 26, 2017

नीतीश कुमार बोले, मैंने नोटबंदी के बाद बेनामी संपत्ति का मामला उठाया था और मेरे साथ वाले ही..


why-nitish-kumar-resigned-news-in-hindi

आज नीतीश कुमार ने बिहार के मुख्यमंत्री पद से इस्तीफ़ा दे दिया, उनके इस्तीफे की वजह थी तेजस्वी यादव पर भ्रष्टाचार के आरोप. तेजस्वी यादव पर बेनामी संपत्ति मामले में FIR दर्ज हुई है, नीतीश कुमार हमेशा बेनामी संपत्ति पर कार्यवाही की मांग करते रहे हैं, नीतीश कुमार मुख्यमंत्री हैं जबकि तेजस्वी यादव उप-मुख्यमंत्री हैं, वे हर मंच पर नीतीश कुमार के साथ बैठते हैं.

आज नीतीश कुमार ने कहा कि मैंने नोटबंदी के बाद बेनामी संपत्ति का मामला उठाया था, अब आप बताओ, मैं बेनामी संपत्ति का मामला उठा रहा हूँ और मेरे साथ वाले पर ही बेनामी संपत्ति का मामला दर्ज हुआ है, मैं ऐसी हालत में सरकार कैसे चला सकता हूँ.

उन्होंने कहा कि मैंने किसी का इस्तीफ़ा नहीं माँगा था, मैंने 15 दिन तक उनका इन्तजार किया, उन्होंने ना तो सफाई दी और ना ही खुद को बेगुनाह साबित किया, जब उन्होंने इस्तीफ़ा देने से इनकार कर दिया तो मैंने खुद ही अपना पद त्याद दिया.

उन्होंने कहा कि मैंने पिछले 22 महीनों से महागठबंधन की सरकार चलायी, हमेशा जनहित में फैसले किये, शराबबंदी करके बिहार में बदलाव लाने का प्रयास किया, हमने जब नोटबंदी का समर्थन किया तो मुझपर विपक्षियों ने अनाप शनाप आरोप लगाए, हाल ही में मैंने राष्ट्रपति पद के लिए रामनाथ कोविंद का समर्थन किया तो उसके बाद भी मुझपर आरोप लगाए गए, क्या हमें सोचने का अधिकार नहीं है, रामनाथ कोविंद बिहार के राज्य पाल थे, उन्होने अच्छा काम किया था, उनका राष्ट्रपति बनना बिहार के लिए गर्व की बात थी लेकिन मेरे ऊपर आरोप लगाये गए.

उन्होंने कहा कि मैंने इस मामले में राहुल गाँधी से भी बात की लेकिन उन्होंने खुद आर्डिनेंस फाड़कर फेंके थे इसलिए उनका स्वभाव लोग जानते ही हैं, जब बात नहीं बनी तो हमने ही अपना पद त्याग दिया. उन्होंने कहा कि हम विपक्षी एकता के पक्षधर थे लेकिन ऐसे माहौल में मेरा सरकार चलना संभव नहीं था इसलिए मैंने इस्तीफ़ा दे दिया.
नीचे कमेन्ट बॉक्स में अपनी राय लिखें
पोस्ट शेयर करें और फेसबुक पेज LIKE करें
loading...

0 comments: