Jul 28, 2017

शिवसेना ने उड़ाया मोदी-नीतीश की दोस्ती का मजाक, बोले 'पाकिस्तान को बीजेपी ने किया खुश'


shivsena-mocks-bjp-jdu-modi-nitish-reunion

करीब चार वर्षों बाद मोदी और नीतीश के बीच फिर से दोस्ती हो गयी है और बीजेपी-जेडीयू ने मिलकर बिहार में सरकार भी बना ली है, दोनों की इस दोस्ती से एनडीए की सहयोगी शिवसेना भी हैरान है, हैरानी से भी अधिक शिवसेना को जलन हो रही है, शायद इसीलिए शिवसेना ने दोनों की दोस्ती का मजाक उड़ाते हुए कहा है कि पिछले 3-4 वर्षों के दौरान इन लोगों ने एक दूसरे के खिलाफ जो जहर उगला है उसे कैसे छिपाएंगे.

आपको बता दें कि बीजेपी वाले नीतीश के एनडीए में शामिल होने को घर-वापसी बोल रहे हैं लेकिन शिवसेना ने इसका मजाक उड़ाया है. शिवसेना ने आज अपने मुखपत्र सामना में एक लेख लिखा है जिसमें दोनों की दोस्ती पर जमकर फब्तियां कसी हैं. शिवसेना ने कहा कि यद्यपि दोनों नेता एक दूसरे पर प्यार बरसा रहे हैं और एक दूसरे की तारीफ कर रहे हैं लेकिन इन दोनों ने पिछले 4 वर्षों में एक दूसरे के खिलाफ जो जहर उगला है, उस जहर को कैसे साफ़ करेंगे.

शिवसेना ने लिखा है - अमित शाह ने नीतीश के बारे में कहा था कि अगर नीतीश जीत गए तो पाकिस्तान में भी पटाखे जलेंगे, नीतीश कुमार एक बार फिर से मुख्यमंत्री बन गए हैं तो क्या इसका मतलब ये है कि अब पाकिस्तान में पटाखे जल रहे होंगे, ऐसा लगता है कि बीजेपी ने नीतीश के साथ सरकार बनाकर पाकिस्तान को भी खुश कर दिया है.

शिवसेना ने यह भी कहा - नीतीश कुमार बीजेपी को साम्प्रदाईक पार्टी बताते थे, इसके अलावा वे बीजेपी पर संघ की विचारधारा पर चलने का आरोप लगाते थे, यही नहीं नीतीश कुमार यह भी कहते रहे हैं कि जब नरेन्द्र मोदी गुजरात के मुख्यमंत्री थे तो इन्होने मुस्लिमों की हत्या करवाई है, इसी वजह से उन्होंने नरेन्द्र मोदी को प्रधानमंत्री उम्मीदवार बनाये जाने का विरोध किया था और NDA से अलग हो गए थे.

शिवसेना ने यह भी कहा कि इशरत जहाँ एनकाउंटर मामले में नीतीश कुमार ने बीजेपी के खिलाफ बयान दिया था और इशरत को बिहार की बेटी बताया था, बीजेपी ये सब बातें इतनी जल्दी कैसे भूल गयी.
नीचे कमेन्ट बॉक्स में अपनी राय लिखें
पोस्ट शेयर करें और फेसबुक पेज LIKE करें
loading...

1 comment:

  1. Perhaps Uddhav Thackrey has premonition that after 2019 they are going to join the fate of Manase the party run by cousing Raj.So he does not want to miss the meeting with cousin and is coming out with such remarks showing his typical mentality.What If JDU joins BJP after criticizing it Shiv Sena is doing it even when it is partner in power both at the center and in Maharashtra.

    ReplyDelete