Jul 26, 2017

नीतीश कुमार और नरेन्द्र मोदी के बीच शुरू हो गयी बात, 'फ्रेंडशिप पार्ट-2' की हो गयी शुरुआत


narendra-modi-nitish-kumar-friendship-part-two-started

कहते हैं कि राजनीति में कभी कोई दोस्त और दुश्मन नहीं होता, एकाएक कोई दोस्त हो जाता है तो एकाएक दुश्मनी शुरू हो जाती है, कभी नीतीश कुमार और नरेन्द्र मोदी जानी दोस्त होते थे, नीतीश कुमार ने रेल मंत्री रहते हुए सबसे पहेल नरेन्द्र मोदी को PM मैटेरियल बताया था, उस वक्त नरेन्द्र मोदी गुजरात के मुख्यमंत्री थे और अपने काम की वजह से जाने जाते थे.

2013 तक नीतीश कुमार NDA में ही थे, मोदी ने उनकी अच्छी बनती थी लेकिन वे शायद खुद को प्रधानमंत्री उम्मीदवार के रूप में देखना चाहते थे इसलिए जब मोदी को NDA का प्रधानमंत्री उम्मीदवार चुन लिया गया तो नीतीश कुमार नाराज हो गए और अचानक बीजेपी से गठबंधन तोड़कर लालू यादव के साथ सरकार बना ली, उसके बाद नीतीश कुमार नरेन्द्र मोदी के कट्टर विरोध हो गए, उन्होंने लालू यादव के साथ मिलकर चुनाव लड़ा और बीजेपी को करारी हार का स्वाद चखाया.

पिछले 22 महीनों से नीतीश कुमार लालू यादव की पार्टी के साथ सरकार चला रहे हैं, लेकिन आज अचानक उन्होंने लालू यादव के पुत्र और उप-मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव पर भ्रष्टाचार का आरोप लगाकर अपने पद से इस्तीफ़ा दे दिया

इस इस्तीफे के बाद नीतीश कुमार और नरेन्द्र मोदी के बीच फ्रेंडशिप पार्ट-2 स्टार्ट हो गयी है, दोनों नेता एक दूसरे से बात कर रहे हैं और एक दूसरे का धन्यवाद कर रहे हैं.

नीतीश कुमार के इस्तीफे की खबर सुनकर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी बहुत खुश हो गए, उन्होंने तुरंत ट्वीट करके कहा - भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ाई में जुड़ने के लिए नीतीश कुमार जी को बहुत बहुत बधाई, सवा सौ करोड़ नागरिक ईमानदारी का स्वागत और समर्थन कर रहे हैं.

उन्होंने दूसरे ट्वीट में कहा - देश के और विशेष रूप से बिहार के उज्जवल भविष्य के लिए राजनीतिक मतभेदों से ऊपर उठकर भ्रष्टाचार के खिलाफ एक होकर लड़ना, आज देश और समय की मांग है.

pm-narendra-modi-happy-after-nitish-kumar-resignation-hindi-news

नीतीश कुमार ने भी ऐसी शानदार प्रतिक्रिया के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का शुक्रिया अदा किया, उन्होंने कहा - हमें जो निर्णय लिया था उसपर माननीय प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने जिस प्रकार की प्रतिक्रिया दी है, उसके लिए उन्हें तहेदिल से धन्यवाद.
nitish-kumar-and-narendra-modi-friendship-part-2


बताया जा रहा है कि नीतीश कुमार तेजस्वी यादव का इस्तीफ़ा चाहते थे लेकिन तेजस्वी यादव इस्तीफ़ा देने को तैयार नहीं थे, कई दिनों से राजनीतिक उठापटक चल रही थी, नीतीश कुमार दिल्ली में राहुल गाँधी से भी मिले लेकिन बात नहीं बनी और उन्होंने अपने पद से इस्तीफ़ा देकर महागठबंधन तोड़ दिया.
नीचे कमेन्ट बॉक्स में अपनी राय लिखें
पोस्ट शेयर करें और फेसबुक पेज LIKE करें
loading...

0 comments: