Jul 25, 2017

मोदी सरकार में काम नहीं किया तो जाओ, 381 कामचोर अधिकारियों और 24 IAS अफसरों को दी गयी सजा


modi-sarkar-dopt-punish-381-civil-service-officers-and-24-ias

मोदी सरकार ने अधिकारियों के लिए करो या मरो का फार्मूला लागू कर दिया है. आज डिपार्टमेंट ऑफ़ पर्सनल एंड ट्रेनिंग (DoPT) ने 381 कामचोर अधिकारियों और 24 कामचोर IAS अफसरों को सजा दी गयी है, कई लोगों को समय से पहले रिटायरमेंट तय कर दी गयी है और कई लोगों की सैलरी और भट्टे काट लिए गए हैं. आज DoPT ने खुद इस बात की जानकारी दी है.

मोदी सरकार ने अफसरों को कई बार काम करने और सिस्टम में बदलाव लाने की अपील की लेकिन अफसरों ने उनकी बात को एक कान से सुना और दूसरे कान से निकाल दिया. अब ऐसे अफसरों को समय से पहले ही रिटायरमेंट देकर एक तरह से उन्हें नौकरी से निकालने का फैसला किया गया है.

मोदी सरकार ने अधिकारियों के काम और परफार्मेंस के आधार पर पदोन्नति देने का फैसला किया है, मतलब अधिकारी काम करेंगे तभी उन्हें प्रमोशन मिलेगा, अगर काम नहीं करेंगे तो ना प्रमोशन मिलेगा और ना ही 60 साल नौकरी कर पाएंगे, अगर उन्हें 60 की जगह 50 में ही निकला दिया गया तो भी उनका लाखों रुपये का नुकसान होगा. मतलब अगर काम नहीं करोगे तो घर जाओ.

पिछले तीन वर्षों में 11,828 ग्रुप A अफसरों जिसमें 2953 IAS, IFS और IPS अफसर भी शामिल है का रिकॉर्ड देखा गया हिया, इसके अलावा 19,714 ग्रुप बी अफसरों के रिकॉर्ड को भी खंगाला गया है. इनमें से 381 अफसरों अफसरों को समय से पहले रिटायरमेंट देकर उन्हें घर भेज दिया गया है.
नीचे कमेन्ट बॉक्स में अपनी राय लिखें
पोस्ट शेयर करें और फेसबुक पेज LIKE करें
loading...

0 comments: