Jul 29, 2017

महबूबा मुफ़्ती ने कहा, कश्मीर में तिरंगे को कोई कांधा देने वाला नहीं रहेगा: पढ़ें क्यों कहा ऐसा


mehbooba-said-nobody-will-carry-corpse-of-national-flag-in-kashmir

जम्मू और कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ़्ती ने बहुत ही विवादास्पद बयान दिया है, उन्होंने कहा है कि अगर संविधान के  अनुच्छेद 35(A) से छेड़छाड़ की गयी या इसमें बदलाव किया गया तो कश्मीर में तिरंगे को कोई कांधा देने वाला नहीं रहेगा. महबूबा के बयान के बाद उनपर तिरंगे के अपमान के आरोप लग रहे हैं, कश्मीर की नेशनल पैंथर पार्टी ने उन पर कार्यवाही की मांग की है.

कल महबूबा मुफ़्ती ने चेतावनी भरे लहजे में कहा था कि संविधान का अनुच्छेद 35(A) जम्मू कश्मीर राज्य के लिए एक विशेष प्रावधान देता है, अगर इसमें कोई ऐसा बदलाव किया गया जो घाटी में रहने वाले लोगों के पक्ष में नहीं हुआ तो हमें इसके नतीजे भुगतने होंगे.

उन्होंने कहा कि संविधान का अनुच्छेद 35(A) राज्य सरकार की विधानसभा को इस बात की इजाजत देता है कि राज्य में रहने वाले स्थायी निवासियों की परिभाषित कर सके और उन्हें विशेषाधिकार दे सके. 

उन्होंने कहा कि सुप्रीम कोर्ट में अनुच्छेद 35(A) पर बहस चल रही है लेकिन मैं इतना बता देती हूँ, अगर इसमें कोई भी परिवर्तन किया गया तो इसके बहुत बुरे नतीजे होंगे, मुझे कहने में कोई झिझक नहीं है कि भविष्य में कोई कश्मीर में तिरंगे को कोई कांधा देने वाला नहीं रहेगा.

महबूबा मुफ़्ती ने तिरंगे का किया अपमान: एनपीपी

महबूबा के विवादास्पद बयान के बाद राज्य की नेशनल पैंथर पार्टी (NPP) ने उनपर तिरंगे का अपमान करने का आरोप लगाया है, एनपीपी नेता भीम सिंह ने कहा कि महबूबा मुफ़्ती का बयान बहुत ही शर्मनाक है, भारतीय ध्वज पर महबूबा मुफ़्ती की टिप्पड़ी अस्वीकार्य है, उन्होंने संविधान का उल्लंघन किया है.

भीम सिंह ने कहा कि क्या महबूबा मुफ़्ती जानती हैं कि अनुच्छेद 35(A) क्या है, इसे संसद द्वारा नहीं बनाया गया था, 1954 में उस समय के तत्कालीन प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरु की सिफारिश पर भारत के राष्ट्रपति ने इसमें संसोधन करके इसे लागू किया था.
नीचे कमेन्ट बॉक्स में अपनी राय लिखें
पोस्ट शेयर करें और फेसबुक पेज LIKE करें
loading...

0 comments: