Jul 8, 2017

2019 में BJP की जीत 100% तय मान रहा है इजरायल, तभी मोदी से कर रहा है पक्की दोस्ती, क्योंकि


israel-pm-benjamin-netanyahu-seeing-modi-bjp-vicroty-in-2019

आप भी सोच रहे होंगे कि आखिर इजरायल मोदी पर इतनी जान क्योंकि लुटा रहा है, जब 70 साल में कोई भारतीय प्रधानमंत्री इसलिए इजरायल नहीं गया क्योंकि वे सोचते थे मुस्लिम उन्हें वोट नहीं देंगे, आखिर इजरायल ने भारत से दोस्ती करने के लिए इतना रिस्क क्यों लिया, क्या इजरायल को पता नहीं है कि मोदी सरकार के कार्यकाल में सिर्फ 2 साल बचे हुए हैं, अगर दो साल बाद मोदी हार गए तो आने वाली सरकार फिर से इजरायल से दोस्ती करने में डरने लगेगी, हो सकता है इजरायल के साथ सभी समझौते रद्द कर दिए जाँय, इजरायल भी कांग्रेस के बारे में जानता है, उसे भी पता है कि 70 साल तक कोई कांग्रेसी प्रधानमंत्री इजरायल क्यों नहीं आया. कांग्रेस को किस बात का डर था जो उन्हें इजरायल आने से रोकती थी.

हम आपको बताते हैं कि इजरायल मोदी के साथ इतनी पक्की दोस्ती क्यों कर रहा है और भारत के साथ Make with India प्रोजेक्ट क्यों शुरू करने जा रहा है, बात ये है कि इजरायल 2019 में भी बीजेपी की बहुमत के साथ जीत देख रहा है, उसे 100 फ़ीसदी विश्वास है कि मोदी ही 2019 में चुनाव जीतेंगे और इजरायल के साथ सम्बन्ध जारी रहेंगे, इसीलिए उसनें 3 साल तक मोदी सरकार का इन्तजार किया और जब उसे पक्का विश्वास हो गया कि अब 2019 में मोदी को वापस आने से कोई नहीं रोक सकता तो उसनें मोदी पर डोरे डालने शुरू कर दिए.

आपको बता दें कि अगर 2019 में मोदी की वापसी होती है तो भारत और इजरायल की दोस्ती और मजबूत हो सकती है क्योंकि दोनों देशों की समस्याएँ के जैसी हैं, दोनों ही देश आतंकवाद की समस्या से पीड़ित हैं लेकिन इजरायल ने आतंकवाद से निपटने के लिए बहुत कठोर रणनीति अपनाई है, वहां आतंकियों को बिरयानी नहीं खिलाई जाती बल्कि ख़त्म कर दिया जाता है. इजरायल आतंकवादियों को ढूंढ ढूंढ कर मारता है और इस काम में वहां का विपक्ष भी साथ देता है लेकिन भारत का विपक्ष आतंकवादियों के साथ खड़ा हो जाता है.

इजरायल जानता है कि एक जैसी समस्या से पीड़ित होने के कारण दोनों देश एक दूसरे की मदद कर सकते हैं, एक टैलेंट में आगे है तो दूसरा टेक्नोलॉजी का बादशाह है, भारत के पास मैनपावर है तो इजरायल के पास टेक्नोलॉजी, अगर दोनों देश एक साथ मिल गए तो कमाल हो जाएगा.

इजरायल को 100 फ़ीसदी विश्वास है कि 2019 में मोदी की वापसी होगी और उसके साथ व्यापारिक सम्बन्ध जारी रहेंगे, इसीलिए बेंजामिन नेतनयाहू मोदी के साथ पक्की दोस्ती कर रहे हैं, कल इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतनयाहू ने एक फोटो पर मोदी के लिए लिखा - प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, विथ डीपेस्ट फ्रेंडशिप ऑन योर हिस्टोरिक विजिट को इजरायल. मोदी ने भी इस फोटो को रि-ट्वीट किया और इतना प्यार करने के लिए उन्हें धन्यवाद दिया.
नीचे कमेन्ट बॉक्स में अपनी राय लिखें
पोस्ट शेयर करें और फेसबुक पेज LIKE करें
loading...

0 comments: