Jul 30, 2017

गोपाल कृष्ण गाँधी को उनके भांजे श्रीकृष्ण ने धो डाला, कर दिया दुनिया के सामने एक्सपोज: पढ़ें


gopal-krishna-gandhi-nephew-krish-slams-him-for-congress-bhakti

आज कांग्रेस पार्टी के लिए एक और बुरी खबर है, कांग्रेस पार्टी के उप-राष्ट्रपति उम्मीदवार गोपाल कृष्ण गाँधी को उनके ही भांजे कृष यानी श्रीकृष्ण कुलकर्णी ने धो डाला है, कृष ने गोपाल कृष्ण गाँधी को फटकार लगाते हुए कहा है कि आप खुद को गाँधी परिवार का सदस्य बताते हो, खुद को इमानदार बताते हो लेकिन कांग्रेस की सरकार में इतने घोटाले हुए, इतने भ्रष्टाचार हुए, आपने उसके खिलाफ कुछ भी नहीं बोला.

कृष ने गोपाल कृष्ण गाँधी को पत्र लिखकर उनकी राष्ट्रपति उम्मीदवारी का विरोध किया है. उन्होंने कहा कि आप उस कांग्रेस पार्टी के उम्मीदवार हो जिसमें वंशवाद और परिवारवाद चलता है, आजादी के इतने साल हो गए लेकिन कांग्रेस पार्टी की सत्ता एक ही परिवार के पास है, पिछले 18 वर्षों से एक ही व्यक्ति सोनिया गाँधी कांग्रेस पार्टी की अध्यक्ष है, प्रधानमंत्री पद की कुर्सी एक ही परिवार के नाम रिज़र्व है और पांचवी पीढ़ी का होने के बाद भी राहुल गाँधी प्रधानमंत्री बनने की होड़ में हैं. 

कृष ने लिखा है कि आप उस पार्टी के उम्मीदवार हो जो गाँधी के उसूलों के खिलाफ चल रही है, मैंने आपको निराशा के साथ नामांकन दाखिल करते हुए देखा है, आपका नामांकन वंशवादी राजनीति करने वाले परिवार ने करवाया.

कृष ने लिखा है कि बोफोर्स घोटाले के बाद राहुल गाँधी ने घमंड भरा बयान दिया, अगर उनकी जगह पर महात्मा गाँधी होते तो खुद को जनता के समक्ष प्रस्तुत कर देते और सभी पदों को छोड़ देते, मौजूदा कांग्रेस पार्टी गाँधी जी के उसूलों के खिलाफ है, इस पार्टी का गांधीजी के सिद्धांतों से कोई मतलब नहीं है, मुझे आश्चर्य हो रहा है कि आप इनके कैंडिडेट होकर आम आदमी और राजनीति के बीच खाई को कैसे भरोगे.

कृष ने कहा कि कांग्रेस पार्टी की सरकार में पता नहीं कितने स्कैंडल हुए हैं लेकिन आपने कभी कोई टिप्पड़ी नहीं की, क्या आप उसे पॉलिटिकल वेंडेटा मानते हो. क्या आप इस देश के लोगों को मूर्ख समझते हो, आप अभी भी उनका समर्थन कर रहे हो लेकिन मैं गांधीजी के परिवार का एक छोटा सदस्य होने के नाते आपका विरोध करूँगा, मैं तो ये कहूँगा - Not in Gandhijis Name.

आगे लिखा है, मुझे माफ़ करना गोपू मामा लेकिन आपका यह निर्णय सही नहीं है, कम से कम मैं तो यही मानता हूँ, मैं तो इसे विश्वासघात मानता हूँ. मेरा आपके प्रति स्नेह बना रहेगा, मैं आपको उप-राष्ट्रपति चुनाव के लिए गुड लक बोलता हूँ और आपको प्रणाम करता हूँ.
नीचे कमेन्ट बॉक्स में अपनी राय लिखें
पोस्ट शेयर करें और फेसबुक पेज LIKE करें
loading...

0 comments: