Jul 7, 2017

तो इसलिए नीतीश कुमार ने नोटबंदी के बाद उठाया था बेनामी संपत्ति का मुद्दा, अब समझ में आया


exposed-why-nitish-kumar-demand-action-on-bemani-sampatti
आपने देखा होगा कि मोदी सरकार ने जब नोटबंदी की थी तो इस निर्णय का सबसे पहले नीतीश कुमार ने समर्थन किया था, साथ ही नीतीश कुमार ने यह भी कहा था कि नोटबंदी के बाद केंद्र सरकार को बेनामी संपत्ति पर भी एक्शन लेना चाहिए. आपको जानकार आश्चर्य होगा कि मोदी सरकार ने नीतीश कुमार की तुरंत बात मानते हुए 1988 में पास हुए बेनामी संपत्ति कानून को तुरंत लागू करके नीतीश कुमार को खुश कर दिया था.

पहले तो लोगों को समझ में नहीं आया है कि नीतीश कुमार की आँखों में किसकी बेनामी संपत्ति चुभ रही है, अब लोगों को समझ में आ रहा है कि नीतीश कुमार किसकी बेनामी संपत्ति की बात कर रहे थे और किसके खिलाफ CBI जांच की मांग कर रहे थे.

कल बीजेपी नेता सुशील मोदी ने खुलासा किया कि लालू यादव बिहार के सबसे बड़े जमींदार हैं और यह सारी जमीन उन्होंने रेल मंत्री रहते हुए बनायी थी, कल सुशील मोदी ने खुलासा किया और आज CBI ने लालू यादव के 12 ठिकानें पर एक साथ छापा मार दिया. CBI छापे के बाद सुशील मोदी ने यह भी खुलासा कर दिया कि NDA में रहते वक्त खुद नीतीश कुमार ने लालू यादव की बेनामी संपत्ति का मुद्दा उठाया था और CBI जांच की मांग की थी, सुशील मोदी ने यह भी कहा कि नीतीश कुमार की मांग पर लालू यादव के खिलाफ कार्यवाही हो रही है इसलिए उन्हें इस मामले पर जरूर बोलना चाहिए.

आज CBI ने प्रेस वार्ता करके जानकारी दी कि रेल मंत्री रहते हुए लालू यादव ने बड़े बड़े होटलों को अवैध टेंडर बाँटें और बदले में उनसे पटना में जमीन ले ली, यही फार्मूला अपनाकर लालू यादव बिहार में अथाह संपत्ति के मालिक बन गए, CBI ने लालू यादव के खिलाफ पक्के सबूत होने का दावा किया है इसलिए लालू यादव का जेल जाना तय है. 

पहले नीतीश कुमार का रोल कुछ लोगों को समझ में नहीं आ रहा था लेकिन धीरे धीरे उनका रोल समझ में आने लगा है, नीतीश कुमार ने मजबूरी में लालू यादव के साथ दोस्ती की थी, अब उन्हें पता है कि लालू यादव अपने बेटे तेजस्वी यादव को आगे करके उनका पत्ता साफ़ करना चाहते हैं इसलिए नीतीश कुमार भी अपने भविष्य की सोचकर लालू यादव का पत्ता साफ़ करना चाहते हैं और उन्हें जेल भिजवाकर उनका काम तमाम करना चाहते हैं, हाल ही में उन्होंने बीजेपी से नजदीकी बढ़ाई है और NDA उम्मीदवार को राष्ट्रपति पद के लिए समर्थन दिया है. वाह नीतीश कुमार क्या गेम खेला है आपने.
नीचे कमेन्ट बॉक्स में अपनी राय लिखें
पोस्ट शेयर करें
loading...

0 comments: