Jul 27, 2017

अपनी ही बयान से फंस गए राहुल गाँधी 'नेता लोग स्वार्थ के लिए किसी से भी हाथ मिला लेते हैं'


apne-hee-bayan-se-fans-gaye-rahul-gandhi-nitish-kumar-modi

आज कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गाँधी अपने ही बयान से फंस गए, उन्होंने कहा कि हिंदुस्तान की राजनीति में यही प्रॉब्लम है कि यहाँ पर कोई नियम कानून नहीं चलता, नेता लोग अपने निजी स्वार्थ के लिए किसी से भी हाथ मिला लेते हैं.

राहुल गाँधी के इस बयान के बाद उत्तर प्रदेश चुनाव से पहले ही यादें ताजा हो गयीं जब उन्होंने एकाएक अखिलेश यादव से गठबंधन कर लिया था जबकि उससे पहले दोनों ही नेता एक दूसरे पर हमले करते थे. राहुल गाँधी ने उत्तर प्रदेश के लिए नारा दिया था '27 साल यूपी बेहाल' मतलब वे अखिलेश यादव सरकार पर ही उत्तर प्रदेश को बेहाल करने का आरोप लगा रहे थे और एकाएक उन्हीं के साथ हाथ मिला लिया.

27-saal-up-behaal-rahul-gandhi

अब लोग कह रहे हैं कि राहुल गाँधी ये बात नीतीश कुमार के लिए नहीं बल्कि अपने लिए भी कह रहे हैं क्योंकि उन्होंने अपने स्वार्थ के लिए अखिलेश यादव के साथ हाथ मिला लिया था. सोशल मीडिया पर राहुल गाँधी का जमकर मजाक बनाया जा रहा है.

बिहार में सिर्फ 12 घंटों में इतनी तेजी से घटनाक्रम बदला कि नीतीश कुमार मुख्यमंत्री पद का त्याग करके फिर से मुख्यमंत्री बन गए हालाँकि अब उनकी सरकार में RJD की जगह BJP आ गयी है, अब बिहार में नीतीश-सुशील की जोड़ी फिर से एक हो गयी है, आज नीतीश कुमार ने मुख्यमंत्री पद की शपथ ली जबकि सुशील कुमार मोदी ने उप-मुख्यमंत्री पद की शपथ ली.

नीतीश कुमार के कदम पर प्रतिक्रिया देते हुए कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गाँधी ने कहा कि नीतीश कुमार ने बिहार को धोखा दिया है, बिहार के लोगों ने साम्प्रदायवाद के खिलाफ नीतीश कुमार को वोट दिया था लेकिन आज वे उन्हीं लोगों से मिल गए.

राहुल गाँधी ने कहा कि हिंदुस्तान की राजनीति में यही कमीं है, यहाँ अपने स्वार्थ के लिए कोई कुछ भी करने को तैयार रहना है, कोई नियम कानून नहीं है.

राहुल गाँधी ने कहा कि नीतीश कुमार और बीजेपी के रिश्तों के बारे में हमें पहले से ही पता था, हम माहौल देखकर ही अंदाजा लगा लेते हैं कि क्या हो रहा है, नीतीश और बीजेपी के बीच पिछले तीन-चार महीनों से खिचड़ी पाक रही थी. वह हमसे भी मिले थे लेकिन हमनें उनका मूंड भांप लिया था.
नीचे कमेन्ट बॉक्स में अपनी राय लिखें
पोस्ट शेयर करें और फेसबुक पेज LIKE करें
loading...

1 comment:

  1. Rahul Gandhi is like Bahadur Shah Zafar of Congress party as the party shall be buried during his life.

    ReplyDelete