Jun 25, 2017

बीजेपी नेता सुब्रमनियम स्वामी ने रजनीकांत और उनके फैन्स को बताया 420 और असभ्य, पढ़ें क्यों?


subramanian-swamy-told-rajnikant-and-his-fans-420-uncivilized

New Delhi, 25 June: भारतीय जनता पार्टी के दिग्गज नेता और राज्य सभा सांसद सुब्रमनियम स्वामी ने कल सुपरस्टार रजनीकांत को 420 बताया था तो आज उनके फैन्स को भी 420 और असभ्य और अनपढ़ बता दिया, उन्होंने कहा कि रजनीकांत के अधिकतर फैशन Nonsense ट्वीट करते हैं और अपने स्टार की तरह ही अनपढ़ हैं. स्वामी के कहने का मतलब ये है कि रजनीकांत की तरह उनके फैन्स भी अनपढ़ हैं.
आपकी जानकारी के लिए बता दें कि सुब्रमनियम स्वामी ने कल भी रजनीकांत के खिलाफ ट्वीट किया था और कहा था कि अगर वे राजनीति में आयेंगे तो दिल्ली वाला यानी केजरीवाल की तरह ही श्री 420 साबित होंगे.
जानकारी के लिए बता दें कि रजनीकांत कई महीनों से राजनीति में उतरने का इशारा कर रहे हैं, उनके फैन्स भी चाहते हैं कि वे राजनीति में आयें और Shivaji The Boss फिल्म के हीरो की तरह भ्रष्टाचार, कालाधन ख़त्म कर सकें, रजनीकांत ने कुछ दिन पहले कहा था कि जब उन्हें राजनीति में आना होगा तो अपने सभी समर्थकों को जरूर बताएंगे. यह भी खबर आ रही है कि रजनीकांत अपनी खुद ही राजनीतिक पार्टी शुरू कर सकते हैं.

बीजेपी नेता सुब्रमनियम स्वामी ने शुरू से ही रजनीकांत के राजनीति में आने का विरोध कर रहे हैं क्योंकि वे चाहते हैं कि बीजेपी को तमिल नाडु में भी सरकार बनाने का मौका मिला, अगर रजनीकांत ने अपने पार्टी बना ली तो उनकी भक्ति में अंधे लोग उन्हें ही वोट करेंगे और बीजेपी का काम खराब हो जाएगा इसीलिए सुब्रमनियम स्वामी उन्हें केजरीवाल की तरह 420 बता रहे हैं.

इससे पहले सुब्रमनियम स्वामी ने रजनीकांत को राजनीति का अनपढ़ कैंडिडेट बताते हुए कहा था कि तमिलनाडु की राजनीति के ताजा हालात पहले से ही बहुत बुरे हैं इसलिए रजनीकांत जैसे राजनीति के अनपढ़ कैंडिडेट की जरूरत नहीं है.

उन्होंने कहा कि रजनीकांत तमिलनाडु की ताजा राजनीतिक हालात में फिट नहीं बैठते हैं, उन्हें भारतीय संविधान और जनता के बेसिक अधिकारों की विल्कुल जानकारी नहीं है, बेहतर है कि वे फिल्मों में ही काम करते रहें क्योंकि वे अच्छे अच्छे डायलाग बोलकर लोगों का मनोरंजन करना जानते हैं लेकिन राजनीति करना उनके बस की बात नहीं है.

उन्होंने कहा कि अब तक रजनीकांत ने तमिल नाडू में रहकर क्या किया है, राज्य के विकास के लिए क्या किया है, उन्हें राजनीति में आने का विचार भी नहीं करना चाहिए. जितने भी फिल्म स्टार तमिलनाडू की राजनीति में आयी हैं, अब तक राज्य को बर्बाद ही किया है. यहाँ पर रजनीकांत की जरूरत नहीं है, उन्हें फ़िल्में करने और डायलाग बोलने में महारत हासिल है, राजनीति में नहीं.
नीचे कमेन्ट बॉक्स में अपनी राय लिखें
पोस्ट शेयर करें और फेसबुक पेज LIKE करें
loading...

0 comments: