Jun 6, 2017

संबित पात्रा ने कांग्रेस की जमकर धुनाई कर दी: पढ़ें क्या कहा?


sambit-patra-befitting-reply-to-congress-who-criticize-modi-sarkar
New Delhi: आज कांग्रेस पार्टी की वर्किंग कमेटी की मीटिंग थी, होना तो यह चाहिए था कि कांग्रेसी अपने कामकाज की समीक्षा करते लेकिन इस मीटिंग में कांग्रेसियों ने अपने कामकाज की नहीं बल्कि मोदी सरकार के कामकाज की समीक्षा की और मोदी सरकार के 3 साल को बहुत ही निराशाजनक बताया, कांग्रेस ने कहा कि मोदी सरकार में हर तरफ डर का माहौल है, देश बर्बाद हो रहा है, आर्थिक प्रगति रुक गयी है, बेरोजगारी बढती जा रही है.

कांग्रेस की मीटिंग के तुरंत बाद बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा ने प्रेस कांफ्रेंस की और कांग्रेस को हर मुद्दे पर जमकर धोया, देखिये क्या कहा संबित पात्रा ने. VIDEO.


संबित पात्रा ने कहा कि आज कांग्रेस की वर्किंग कमेटी की बैठक की गयी थी जिसमें भारतीय जनता पार्टी की सरकार पर कई सारी टिप्पड़ियां की गयी, कभी कभी हम भी सोचते हैं कि कांग्रेस वर्किंग कमेटी में तो यह चर्चा होनी चाहिए कि कांग्रेस में कौन कौन सा नेता काम कर रहा है, और कौन सा नेता काम नहीं कर रहा है लेकिन इसको सोचकर वो ये चिंता कर रहे हैं कि मोदी जी देश के लिए काम कर रहे हैं या नहीं.

संबित पात्रा ने कहा कि मैं कांग्रेस पार्टी की अध्यक्ष सोनिया गाँधी और उपाध्यक्ष राहुल गाँधी को यह बोलना चाहूँगा कि मोदी जी काम कर रहे हैं या नहीं उसकी चिंता आप मत कीजिये, उसका परिणाम जमीन पर दिख रहा है क्योंकि मोदी सरकार ने गरीबों के कल्याण के लिए जो नीतियां शुरू की हैं उसी का नतीजा है कि आज जनता यह महसूस कर रही है कि बिगत 10 वर्षों में देश के किसकी सरकार थी और उनपर कितना अत्याचार हुआ और आज केवल 3 वर्षों में उनको क्या क्या मिला, ये जनता खूब जानती है कि 10 वर्षों में हमने क्या खोया है और 3 वर्षों में क्या पाया है.

संबित पात्रा ने कहा कि कांग्रेस हमपर आरोप लगा रही है कि ये डर की सरकार है, कांग्रेस को बताया जाय कि आखिर डर क्या होता है, डर वो होता है जो 1984 के दंगों में कांग्रेस ने दिया था. उस समय देश का हर नागरिक डर गया था और जब तत्कालीन प्रधानमंत्री राजीव गाँधी से पूछा गया था कि ये सब क्या हो रहा है तो उन्होने कहा था कि जब कोई बड़ा पेड़ गिरता है तो धरती हिलती है. ये होता है डर का माहौल बनाना.

संबित ने कहा कि जहाँ तक मोदी सरकार की बात है, डर का माहौल तो है लेकिन किसके लिए, बेईमानों के लिए डर और इमानदारों के लिए राहत, मोदी सरकार ने 3 वर्षों में यह मूलमंत्र दिया है. भ्रष्टाचारियों जिन्होंने बेईमानी से गरीबों का लूटा है वे डरें लेकिन जो देश के लिए काम कर रहा है, सच्चाई के लिए काम कर रहा है उसे डरने की जरूरत नहीं है.

उन्होंने कहा कि कांग्रेस को डर के बारे में बात ही नहीं करनी चाहिए क्योंकि कांग्रेस वह पार्टी है जिसनें देश में इमंजेंसी लगाई, उसका कलंक आज तक नहीं धुल पा रहा है इसलिए कांग्रेस वर्किंग कमेटी में वे डर के ऊपर चिंतन करते हैं.

संबित पात्रा ने कहा कि कांग्रेस ने RAID के बारे में चर्चा कि और कहा कि ये Vendetta की सरकार है, हम कांग्रेस को बता देना चाहते हैं कि चाहे गरीब की जेब से एक पैसा निकाला गया हो या हजार पैसा निकाला गया हो, सरकार का दाइत्व है कि वह Law Enforcement Agencies के बीच में खड़ा ना हो और ना खाऊंगा ना खाने दूंगा, जिन्होंने खाया है उसे निकलवाऊंगा क्योंकि यह गरीबों का पैसा है.

संबित पात्रा ने विजय माल्या और कांग्रेस की लूट का पर्दाफाश करते हुए कहा - विजय माल्या ने इस देश का 9000 करोड़ रुपये लूटा, किसनें पैसे दिए थे विजय माल्या को, तमाम चैनलों ने एक्सपोज किया था, चिट्ठी दिखाई थी कि किस तरह से मनमोहन सिंह और पी चिदंबरम में विजय माल्या के समर्थन में चिट्ठी लिखी थी कि इन्हें पैसा दिया जाय, इनकी मदद की जाय, विजय माल्या को इन्होने 9000 करोड़ रुपये दिया और उसनें गबन कर लिया, गरीबों का पैसा विजय माल्या की झोली में डालने वाले कांग्रेस नेता हैं. ये नेता सरकार में रहते हुए भ्रष्टाचारियों का संरक्षण कर रहे थे.

संबित पात्रा ने कहा कि ये कहते हैं कि सबका साथ सबका विकास नहीं हो रहा है, कांग्रेस ने खुद अपनी सरकार में कुछ का साथ कुछ का विकास किया, सिर्फ एक परिवार ने सत्ता की मलाई खाई, आज भी एक ही परिवार के दो सदस्य सोनिया गाँधी और राहुल गाँधी जमानत पर बाहर हैं, इन्हें छुड़ाने के लिए कांग्रेस के टॉप वकीलों ने कोर्ट में लड़ाई लड़ी लेकिन सोनों को कोई राहत नहीं मिली.
नीचे कमेन्ट बॉक्स में अपनी राय लिखें
पोस्ट शेयर करें और फेसबुक पेज LIKE करें
loading...

0 comments: