Jun 22, 2017

उंगलियाँ कट जाएँ तो ना घबराएं, फरीदाबाद के METRO HOSPITAL में आकर जुड़वाँ लें: पढ़ें और शेयर करें


faridabad-metro-hospital-re-implant-3-fingers-rare-surgery-news
Faridabad, 22 June: अक्सर देखा जाता है कि दुर्घटना में किसी व्यक्ति की उंगली कटने के बाद इसे बुरी किस्मत मानकर छोड़ दिया जाता है, लोग सोचते हैं कि अब हमारी उंगलियाँ नहीं जुड़ेंगी इसलिए कटे हुए भाग को फेंक देते हैं लेकिन अब ऐसा करने की जरूरत नहीं है क्योंकि अब आपकी उंगलियाँ फिर से जुड़ सकती हैं और पूरी तरह से काम भी कर सकती हैं, Metro Hospital Faridabad अब तक करीब 5 लोगों की उंगलियाँ जोड़ चुका है, जी हाँ, एक नहीं बल्कि 3-3 उंगलियाँ जोड़ चुका है, आज प्रेस कांफ्रेंस में मेट्रो हॉस्पिटल के डॉक्टरों ने यह जानकारी दी.

जानकारी के अनुसार, हाल ही में Metro Hospital Faridabad में एक 24 वर्षीय युवक को लाया गया, फैक्ट्री की मशीन में उनकी तीन उंगलियाँ पूरी तरह से कटकर अलग हो गयी थीं, उँगलियों का कटा हुआ भाग भी लाया गया, युवक काफी पीड़ा में था, अस्पताल पहुँचते ही युवक को ऑपरेशन थियेटर में ले जाया गया जहाँ पर वरिष्ठ प्लास्टिक सर्जन डॉ कविश्वर, डॉ गरिमा और उनकी टीम ने 10 घंटे की सर्जरी करके युवक की कटी हुई तीनों उँगलियों को सफलतापूर्वक जोड़ दिया गया.

ऑपरेशन के बाद मरीज 5 दिन तक अस्पताल में ही रहा जहाँ पर रोजाना उसकी ड्रेसिंग की गयी, अगले एक महीने तक मरीज का हाथ स्लैब सपोर्ट पर रहेगा उसके पश्चात मरीज की फिजियोथेरेपी शुरू की जाएगी, सम्पूर्ण प्रक्रिया के बाद मरीज की उंगलियाँ पूरी तरह से काम करने लगेंगी, फिलहाल युवक की उंगलियाँ मूवमेंट कर रही हैं.

क्या कहा डॉ कविश्वर ने

डॉ कविश्वर ने बताया कि यह ऑपरेशन हमने माइक्रो सर्जरी तकनीक द्वारा सफलतापूर्वक किया है, Metro Hospital Faridabad में अत्याधुनिक माइक्रोस्कोप उपलब्ध है जिसकी मदद से हमने धमनियों, नसों, तंत्रिकाओं को दोबारा जोड़ दिया. उन्होंने बताया कि फरीदाबाद एक इंडस्ट्रियल शहर है जहाँ पर इस प्रकार की घटनाएं होती रहती हैं लेकिन आम लोगों को जानकारी ना होने की वजह से वे कटी हुई उँगलियों को फेंक देते हैं और उन्हें फिर से जोड़ने की कोशिश नहीं की जाती है लेकिन Metro Hospital Faridabad कटी हुई उँगलियों को फिर से जोड़ देता है लेकिन मरीज को उंगलियाँ कटने के बाद ये कदम उठाने चाहियें -

उंगलियाँ कटने के बाद क्या करें मरीज

  • कटी हुई उँगलियों को लेकर 2-3 घंटे के अन्दर अस्पताल पहुंचना जरूरी है, अगर एक घंटे के अन्दर पहुँच जाएं तो और अच्छा है
  • उंगलियाँ कटने के बाद उसे सलाइन गोज में अच्छी तरह से लपेटकर साफ सुथरी बोतल में रख लें
  • अगर आसपास सलाइन गोज उपलब्ध ना हो तो उँगलियों के कटे हुए भाग को एक साफ़ कपड़ें में अच्छी तरह से लपेटकर एक साफ़ कंटेनर में रख दें और उस कंटेनर को बर्फ में डाल दें, याद रखें उँगलियों को सीधे बर्फ में ना रखें, वरना मामला गड़बड़ हो जाएगा
  • कुछ लोग उंगली कटने के बाद उसे सीधा बर्फ में डाल देते हैं, ऐसा करने से उंगली फिर से नहीं जुड़ पाएगी, ऊपर जैसा लिखा है वैसा ही करें
  • ये करने के बाद 1 घंटे या मैक्सिमम 2 घंटे के अन्दर मेट्रो अस्पताल पहुँच जाएं और उंगली फिर से जुड़वाँ लें
अस्पताल के मैनेजिंग डायरेक्टर Dr. S.S. Bansal ने बताया कि अत्याधुनिक एवं उच्च स्तरीय हाई मग्निफिकेशन माइक्रोस्कोप, जीरो इन्फेक्शन वाले ऑपरेशन थियेटर के साथ साथ कुशल सर्जरी टीम की वजह से ही हम यह चुनौतीपूर्ण ऑपरेशन लगभग 1000 फ़ीसदी सफलता के साथ कर सकते हैं. बंसल ने अपनी सर्जिकल टीम को बधाई दी तथा युवक की उन्गालिको पूर्णतया ठीक कर देने की ख़ुशी जाहिर की.
नीचे कमेन्ट बॉक्स में अपनी राय लिखें
पोस्ट शेयर करें और फेसबुक पेज LIKE करें
loading...

0 comments: