Jun 28, 2017

लालच करना बुरी बला, EU ने गूगल कंपनी पर ठोंक दिया 17400 करोड़ रुपये का जुर्माना


New Delhi, 28 June: लोग कितना भी कहें कि लालच करना गंदी बात है, लालच बुरी बला होती  लेकिन गूगल जैसी दुनिया की सबसे बड़ी कंपनी भी लालच करती हैं, लेकिन जैसा कि कहावत है 'लालच करना गन्दी बात है' वैसे ही गूगल को भी लालच करना मंहगा पड़ा है क्योंकि यूरोप की सरकारी संस्था European Antitrust के अधिकारियों ने गूगल पर 2.2 बिलियन यूरो का जुर्माना लगा दिया है, अगर 2.2 बिलियन यूरो को रुपये में कन्वर्ट  किया जाएगा तो 17400 करोड़ रुपये का जुर्माना लगाया गया है. यह दुनिया में अब तक का सबसे बड़ा जुर्माना है, इस खबर ने पूरी दुनिया को हिला दिया है और गूगल की साख को भी झटका लगा है.

जानकारी के लिए बता दें कि गूगल पर यह जुर्माना गलत तरीके से सर्च इंजन पर अपने कंपनियों का प्रमोशन करने और दूसरी कंपनियों को नुकसान पहुंचाने के लिए लगाया गया है, गूगल ने अपने ही सर्च इंजन में डाटा से छेड़छाड़ करके अपनी कंपनियों को प्रमोट कर दिया.

गूगल पर फाइन लगाने के बाद EUA के अधिकारी Margerethe Vestager ने कहा है कि - ऐसा करके हमने साबित कर दिया कि हम डिजिटल सुविधाओं के सबसे एक्टिव रेगुलेटर हैं. यूरोप में कंपनियों को मेरिट के आधार पर सर्च इंजन में प्रमोशन मिलना चाहिए, गूगल ने नियम तोड़ा है और बिना मेरिट के ही अपने कंपनियों को प्रमोट किया है.

फाइन लगाने जाने के बाद गूगल कंपनी ने EU पर अमेरिकी कंपनियों से भेदभाव का आरोप लगाया है, उन्होंने कहा कि एक प्लानिंग के तहत अमेरिकी कंपनियों को निशाना बनाया जा रहा है.

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि गूगल की सालाना इनकम 90 बिलियन डॉलर है, एक साल में 2.2 बिलियन डॉलर फाइन लगने के बाद भी गूगल 87.8 बिलियन डॉलर कमाएगा इसलिए गूगल को ज्यादा फर्क नहीं पड़ेगा.
नीचे कमेन्ट बॉक्स में अपनी राय लिखें
पोस्ट शेयर करें और फेसबुक पेज LIKE करें
loading...

0 comments: