Jun 19, 2017

रामनाथ कोविंद होंगे BJP के राष्ट्रपति उम्मीदवार, एक तीर से मोदी ने किये कई शिकार: पढ़ें


dalit-leader-ram-nath-kovind-next-president-of-india-nda-poposed
New Delhi, 19 June: भारतीय जनता पार्टी की तरफ से बिहार के गवर्नर Ram Nath Kovind का नाम राष्ट्रपति पद के लिए प्रस्तावित किया गया है, किसी को आशा नहीं थी कि एकाएक नए चेहरे को राष्ट्रपति पद के लिए चुना जाएगा क्योंकि इससे पहले सुषमा स्वराज और लाल कृष्ण आडवाणी का नाम आगे चल रहा था लेकिन बीजेपी की संसदीय बोर्ड की मीटिंग में Ram Nath Kovind का नाम प्रोपोज किया गया जिसे सभी ने मंजूर भी कर लिया, माना जा रहा है कि राष्ट्रपति पद के लिए प्रधानमंत्री मोदी ने ही उनका नाम सुझाया है.

भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने खुद प्रेस कांफ्रेंस करके उनकी उम्मीदवारी की घोषणा की, अमित शाह ने कहा कि रामनाथ कोविंद दलित समाज से उठकर आये हैं और उन्होंने दलितों के उत्थान के लिए बहुत काम किया है, वे पेशे से एक वकील हैं और उन्हें संविधान का अच्छा ज्ञान भी है इसलिए वे एक अच्छे राष्ट्रपति साबित होंगे और आगे भी मानवता के कल्याण के लिए काम करते रहेंगे

जानकारी के लिए बता दें कि अभी सिर्फ बीजेपी ने अपने Ram Nath Kovind के नाम पर सहमति जताई है, अभी NDA की पार्टियों ने उनके नाम पर सहमति नहीं जताई है, शिवसेना ने एम स्वामीनाथन का नाम आग आगे बढ़ाया था, अब देखना है कि NDA की पार्टियाँ बीजेपी का समर्थन करती हैं या किसी और उम्मीदवार का नाम प्रस्तावित करती हैं.

मोदी ने एक तीर से किये कई शिकार

Ram Nath Kovind का नाम राष्ट्रपति पद के लिए चुनकर प्रधानमंत्री मोदी ने एक तीर से कई शिकार किये हैं, पहला शिकार तो ये कि वे दलित समाज से आते हैं, अगर कांग्रेस और विपक्षी पार्टियाँ उनके नाम का विरोध करेंगी तो उन्हें दलित विरोधी समझा जाएगा.

मोदी ने दूसरा शिकार ये किया है कि - विपक्षी पार्टियाँ बीजेपी को दलित विरोधी साबित करने के लिए हर संभव कोशिश कर रही हैं, ऐसे में एक दलित नेता को राष्ट्रपति उम्मीदवार चुनकर बीजेपी ने साबित कर दिया है कि वे दलित विरोधी नहीं हैं, इसके अलावा दलित समाज भी बीजेपी से जुड़ने की कोशिश करेगा क्योंकि बीजेपी का विरोध करने के लिए ही विपक्षी पार्टियों ने भीम आर्मी का गठन किया है जो भारत के दलित समाज को बीजेपी के खिलाफ भड़काने के लिए निकल पड़े हैं.

तीसरा शिकार ये किया है कि दलितों को ही बीजेपी के खिलाफ भड़काकर विपक्षी पार्टियाँ महागठबंधन बना रही हैं लेकिन मोदी ने दलित समाज के ही व्यक्ति को देश के सबसे ऊचें पद पर बिठाकर विपक्षियों की चाल बेकार कर दी है, अब बनाते रहो महागठबंधन, बीजेपी को साबित करते रहो दलित विरोधी, सभी चालें फेल हो गयीं कांग्रेस की.

Ram Nath Kovind का परिचय
  • वर्तमान में बिहार के राज्यपाल हैं (8 अगस्त 2015 से)
  • बीजेपी की तरफ से 12 साल तक (1994-2000 and 2000-2006) राज्यसभा सांसद रह चुके हैं 
  • पेशे से वकील हैं और दिल्ली में प्रैक्टिस करते हैं
  • बीजेपी दलित मोर्चा के अध्यक (1998-2002) रह चुके हैं
  • आल इंडिया कोली समाज के अध्यक्ष रह चुके हैं
  • बीजेपी के राष्ट्रीय प्रवक्ता भी रह चुके हैं
  • Ram Nath Kovind का जन्म 1 अक्टूबर 1945 को कानपुर में हुआ
  • हिन्दू धर्म को मानते हैं
नीचे कमेन्ट बॉक्स में अपनी राय लिखें
पोस्ट शेयर करें और फेसबुक पेज LIKE करें
loading...

0 comments: