Jun 24, 2017

21 AAP विधायकों की सदस्यता समाप्त होने पर ये बहाना बनाएंगे केजरीवाल, जनता से ये बोलेंगे


21-aap-mla-will-be-suspended-kejriwal-will-make-this-excuse

New Delhi, 24 June: आज केजरीवाल और आम आदमी पार्टी के लिए बहुत बुरी खबर आयी, उन 21 AAP विधायकों के लिए और भी बुरी खबर आयी जिन्हें केजरीवाल ने गैरकानूनी तरीके से दिल्ली सरकार में संसदीय सचिव बनाकर उन्हें लाभ का पद दे दिया था लेकिन अब केजरीवाल की यही नासमझी 21 आप विधायकों की सदस्यता समाप्त करने वाली है, अब ये 21 विधायक ना घर के रहेंगे और ना घाट के, क्योंकि चुनाव आयोग इन्हें एक और सिर्फ एक ही सजा देगा और वो है इनकी सदस्यता समाप्त करना और इसके गुनाहगार होंगे सिर्फ अरविन्द केजरीवाल.

इन्हें ही बचाने के लिए केजरीवाल ने उठाया EVM का मुद्दा

अगर आपको लगता होगा कि केजरीवाल और उनकी गैंग ने चुनावों में गड़बड़ी के लिए EVM का मुद्दा उठाया था तो आप गलत हैं क्योंकि केजरीवाल गैंग ने सिर्फ चुनाव आयोग पर दबाव बनाने के लिए EVM में छेड़छाड़ का मुद्दा उठाया था और इसे इतना बढ़ा चढ़ाकर उठाया गया कि इसके लिए नकली EVM का जुगाड़ करके छेड़छाड़ का डेमो तक दिखाया गया लेकिन जब चुनाव आयोग ने आपियों को असली EVM में छेड़छाड़ करने की चुनौती दी तो केजरीवाल और उनकी गैंग के सूरमा विदेश भाग खड़े हुए.

बात दरअसल यह थी कि एक तरफ केजरीवाल की गैंग EVM में छेड़छाड़ का मुद्दा उठाकर चुनाव आयोग को बदनाम कर रही थी तो दूसरी तरफ आप के 21 विधायकों ने EVM के समक्ष उनके मामले को रद्द करने की याचिका डाली थी, केजरीवाल गैंग ने सोचा था कि हम EVM का मुद्दा उठाएंगे तो चुनाव आयोग बदनामी से डरकर हमारे विधायकों को माफ़ कर देगा लेकिन ऐसा हुआ नहीं, आप के 21 विधायकों की क्षमा रचिका रद्द कर दी गयी, अब 21 विधायकों की सदस्यता के ख़त्म होने के 99 फ़ीसदी चांसेस हैं. इसके बाद ये हाई कोर्ट में जाएंगे और हो सकता है सुप्रीम कोर्ट में भी जाएं लेकिन इन्हें हर जगह से ठोकर खानी पड़ेगी क्योंकि इन लोगों ने संविधान का उल्लंघन किया है.

केजरीवाल जनता को देंगे ये सन्देश

अब केजरीवाल पूरी तरह से फंस चुके हैं तो चुनाव आयोग से लड़ने का माहौल बना रहे हैं, EVM टेम्परिंग का मुद्दा इसीलिए उठाया कहा था, केजरीवाल जान बूझकर चुनाव आयोग से लड़ रहे हैं ताकि जनता को सन्देश दिया जा सके कि हम चुनाव आयोग से लड़ रहे हैं इसीलिए हमारे 21 विधायकों की सदस्यता समाप्त करके हमारे साथ दुश्मनी निकाली गयी है.
नीचे कमेन्ट बॉक्स में अपनी राय लिखें
पोस्ट शेयर करें और फेसबुक पेज LIKE करें
loading...

0 comments: