May 24, 2017

जीप से बाँधा गया पत्थरबाज बोला, अभी भी सदमें में हूँ


stone-pelter-farooq-ahmed-dar-still-in-shock-leetul-gogoi-tied-in-jeep

श्रीनगर: एक पत्थरबाज को जीप से बांधकर 12 लोगों की जान बचाने वाले मेजर लीतुल गोगोई की पूरा देश तारीफ कर रहा है, सेना ने उन्हें मेडल से भी नवाजा है, कल मेजर गोगोई ने मीडिया के सामने बयान जारी करके बताया कि उस दिन पत्थरबाजों की भीड़ बहुत हिंसक हो गयी थी, फायरिंग की जरूरत थी लेकिन अगर वे फायरिंग करते तो कम से कम 12 लोगों की मौत होती इसीलिए उन्होंने पत्थरबाजों के गैंग को लीड करने वाले फारूक अहमद डार को उठा लिया और उसे जीप के आगे बाँध दिया, इस नेक काम की वजह से पत्थरबाजों ने सेना पर पत्थर बरसाने बंद कर दिए और फायरिंग नहीं करनी पड़ी.

वहीँ जीप से बांधे गए पत्थरबाज फारूक अहमद डार का कहना है कि मेजर गोगोई को सम्मानित करके सेना ने न्याय की हत्या की है, क्या वह अपने बेटे को भी इसी तरह से जीप के आगे बांधेंगे. मुझे ढाल बनाने के बजाय सेना को पत्थरबाजों से खुद लड़ाई लडनी चाहिए थी, मुझे इस तरह से प्रताड़ित करने की क्या जरूरत थी.

पत्थरबाज फारूक अहमद डार ने कहा है कि उस घटना की वजह से आज भी मैं सदमें में हूँ, मुझे रातों को नींद नहीं आती, मुझे कुछ दिन अस्पताल में भर्ती होना पड़ा, मुझे इतना टेंशन है कि डॉक्टर ने काउंसलिंग के लिए बोला है, मेरा काम बंद हो गया है, कर्ज बढ़ गया है.

फारूक अहमद डार जी, अगर आप पत्थरबाजी करोगे, सेना पर हमला करोगे, देशद्रोही करोगे और पाकिस्तान की भक्ति करोगे तो सदमें में रहना ही पड़ेगा.
नीचे कमेन्ट बॉक्स में अपनी राय लिखें
पोस्ट शेयर करें और फेसबुक पेज LIKE करें
loading...

0 comments: