May 22, 2017

रोहित शर्मा को BCCI बी-ग्रेड खिलाड़ी मानता है, लेकिन हीरा चुनना तो नीता अम्बानी जानती हैं


rohit-sharma-ipl-champion-mi-captain-bcci-put-him-b-grade-player

हैदराबाद: रोहित शर्मा के बारे में देश का बच्चा बच्चा जानता है, वनडे में दो बार डबल सेंचुरी लगाने वाले वे दुनिया के इकलौते बल्लेबाज हैं, जब रोहित अपने फॉर्म में आ जाते हैं तो बड़े से बड़े गेंदबाजों को 1 सेकंड में सीमा से बाहर भेज देते हैं, कहने का मतलब ये है कि आज ही तारीख में भारतीय क्रिकेट टीम में रोहित शर्मा से बढ़िया कोई भी बल्लेबाज नहीं है इसके बावजूद BCCI ने उन्हें बी-ग्रेड खिलाड़ियों की लिस्ट में रखा है जो विल्कुल गलत फैसला है और उनके साथ अन्याय है. आप खुद ये लिस्ट देखिये -

BCCI Grade-A Players

Virat Kohli, MS Dhoni, R Ashwin, Ajinkya Rahane, Cheteshwar Pujara, Ravindra Jadeja, Murali Vijay.

BCCI Grade-B Players

Rohit Sharma, KL Rahul, Bhuvneshwar Kumar, Mohammed Shami, Ishant Sharma, Umesh Yadav, Wriddhiman Saha, Jasprit Bumrah, Yuvraj Singh.

आप खुद देखिये, BCCI ने A-Grade खिलाडियों की लिस्ट में अजिंक्य रहाणे, चेतेश्वर पुजारा और मुरली विजय को तो जगह दी है जो वनडे में एक भी डबल सेंचुरी नहीं लगा पाए हैं और ना ही रोहित शर्मा जैसी बल्लेबाजी करते हैं लेकिन रोहित शर्मा को A-Grade खिलाड़ियों की लिस्ट से बाहर करके उन्हें बी-ग्रेड खिलाड़ी बना दिया गया है.

रोहित शर्मा ने बनाया Mumbai Indians को IPL चैम्पियन

कल रोहित शर्मा ने अपनी कप्तानी में मुंबई इंडियंस टीम को IPL-2017 का चैम्पियन बनाकर साबित कर दिया कि BCCI भले ही उन्हें बी-ग्रेड प्लेयर मानती हो लेकिन वे भारत के सबसे बढ़िया खिलाड़ी हैं और बेस्ट टीम लीडर हैं.

यह भी साबित हो गया है कि BCCI हीरे की पहचान नहीं कर पाती, बल्कि अम्बानी लोग असली हीरे की पहचान कर पाते हैं, रोहित शर्मा ने तीन बार मुंबई इंडियंस को IPL चैंपियन बनाया है इसलिए असली हीरा तो वही हैं जिसकी पहचान अम्बानियों ने की है.

कल IPL के फाइनल मैच में मुंबई इंडियन ने पुणे टीम (Rising Pune Supergiants) को 1 रन से हराकर तीसरी बार चैम्पियन का खिताब हासिल कर दिया, वहीँ पुणे टीम को उप-विजेता से संतोष करना पड़ा, एक बार तो ऐसा लग रहा था कि पुणे यह मैच आसानी से जीत लेगी लेकिन महेंद्र धोनी के सस्ते में आउट होने के बाद पुणे के सभी बैट्समैन एक के बाद एक आउट होते गए, अंतिम ओवर में पुणे के सामने जीत के लिए 11 रनों का लक्ष्य था लेकिन पुणे के बल्लेबाज 10 रन ही बना पाए और 1 रन से मैच हार गए.

मुंबई इंडियन ने पहले बैटिंग करते हुए पुणे के सामने 20 ओवर में 130 रनों का लक्ष्य रखा था, लक्ष्य का पीछा करने उतनी पुणे की टीम पांच विकेट पर सिर्फ 128 रन ही बना पाई.
नीचे कमेन्ट बॉक्स में अपनी राय लिखें
पोस्ट शेयर करें और फेसबुक पेज LIKE करें
loading...

0 comments: