May 23, 2017

पत्थरबाज को जीप से बाँधने वाले मेजर को सेना ने किया सम्मानित, लोग बोले 'इंडियन आर्मी जिंदाबाद'


major-leetul-gogoi-honored-by-indian-army-tied-stone-pelter-jeep

New Delhi: भारतीय सेना ने आज फिर से देशवासियों को गर्व करने का मौका दे दिया है, कुछ दिनों पहले एक पत्थरबाज को जीप से बांधकर घुमाने वाले मेजर Leetul Gogoi को खुद आर्मी चीफ ने मेडल से नवाजा है. यह खबर सुनते ही पूरे देश में ख़ुशी की लहर दौड़ पड़ी, आर्मी चीफ ने मेजर को सम्मानित करके यह भी साबित कर दिया कि उन्हें सेना के अफसरों पर भरोसा है और वे जम्मू और कश्मीर की महबूबा सरकार के सामने झुकने वाले नहीं हैं.

इससे पहले मेजर गोगोई पर एक पत्थरबाज को जीप से बाँधने के कारण JK पुलिस ने FIR दर्ज की थी, जिसके बाद पूरा देश क्रोध की आग में जल उठा था लेकिन आर्मी चीफ ने कल मेजर गोगोई को क्लीन चिट देते हुए ना केवल सभी आरोपों से बरी किया, उन्हें बेस्ट सर्विस मेडल से भी सम्मानित किया.

जानकारी के लिए बता दें कि मेजर गोगोई 53 राष्ट्रीय राइफल्स यूनिट में सेवारत हैं. उन्होंने पिछले महीने एक कश्मीरी पत्थरबाज को उस वक्त जीप के आगे बाँध दिया था जब लोकसभा चुनाव को बाधित करने के लिए पत्थरबाज सेना पर पत्थर बरसा रहे थे, जैसे ही एक पत्थरबाज को पकड़कर जीप से बाँध दिया गया, पत्थरबाजों ने पत्थरबाजी बंद कर दी क्योंकि अगर वे पत्थर फेंकते तो उनके साथी का ही सर फूटता.

जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने इस फोटो को ट्वीट करते हुए इसे मानवाधिकारों का उल्लंघन बताया था जिसके बाद मुद्दा गरमा गया था और महबूबा सरकार ने सेना के मेजर पर FIR दर्ज करवाई थी. 

जम्मू कश्मीर सरकार के इस कदम को नजरअंदाज करते हुए खुद आर्मी चीफ विपिन रावत ने मेजर गोगोई को हाल ही में मेडल प्रदान किया और यह भी जता दिया कि सेना महबूबा सरकार के दबाव में आने वाली नहीं है.

अब पूरे देश के लोग खुश हैं और आर्मी की जय जय कार कर रहे हैं क्योंकि एक बार फिर से सेना का मान सम्मान बढ़ा है साथ ही अधिकारियों के स्वाभिमान की रक्षा हुई है, अगर गोगोई पर कोई कार्यवाही होती तो देश कभी भी आर्मी चीफ को माफ़ नहीं करता.
नीचे कमेन्ट बॉक्स में अपनी राय लिखें
पोस्ट शेयर करें और फेसबुक पेज LIKE करें
loading...

0 comments: