May 24, 2017

चाहते तो 20 पत्थरबाजों को ठोंक देते मेजर गोगोई, लेकिन एक को जीप से बांधकर बख्श दी सबकी जान


stone-pelter-farooq-ahmed-dar-still-in-shock-leetul-gogoi-tied-in-jeep

श्रीनगर: एक पत्थरबाज को जीप से बांधकर 20 पत्थरबाजों की जान बचाने वाले मेजर लीतुल गोगोई की पूरा देश तारीफ कर रहा है, सेना ने उन्हें मेडल से भी नवाजा है, कल मेजर गोगोई ने मीडिया के सामने बयान जारी करके बताया कि उस दिन पत्थरबाजों की भीड़ बहुत हिंसक हो गयी थी, फायरिंग की जरूरत थी लेकिन अगर वे फायरिंग करते तो कम से कम 20 लोगों की मौत होती इसीलिए उन्होंने पत्थरबाजों के गैंग को लीड करने वाले फारूक अहमद डार को उठा लिया और उसे जीप के आगे बाँध दिया, इस नेक काम की वजह से पत्थरबाजों ने सेना पर पत्थर बरसाने बंद कर दिए और फायरिंग नहीं करनी पड़ी.

अब आप खुद सोचिये मेजर गोगोई कितना नेकदिल हैं, अगर वे चाहते तो पत्थरबाजों पर फायरिंग करके कम से कम 20 पत्थरबाजों को ठोंक देते और उन्हें जन्नत की सैर करा देते लेकिन उन्होंने ऐसा नहीं किया, पत्थरबाजों की जान बख्श दी उन्होंने और एक को जीप से बांधकर पत्थरबाजी बंद करवा दी.

मेजर गोगोई ने कहा कि उस दिन जब हम पोलिंग स्टेशन के पास पहुंचे तो पत्थरबाजी शुरू हो चुकी थी, लोग बहुत हिंसक लग रहे थे, महिलाओं, बच्चों के अलावा युवा लोग पत्थरबाजों कर रहे थे, हम पर पेट्रोल बम भी फेंके गए थे, पत्थरबाजों की भीड़ को एक स्थानीय निवासी फारूक अहमद डार लीड कर रहा था, हम फायरिंग करने जा रहे थे, अचानक मेरे दिमाग में एक विचार आया, मैंने फारूक अहमद डार को उठाकर जीप में डाला, जब बात नहीं बनी तो हमने उसे जीप के आगे बाँध दिया और देखते ही देखते पत्थरबाजी बंद हो गयी, इस तरह से करीब दर्जनों लोगों की जान बच गयी.
नीचे कमेन्ट बॉक्स में अपनी राय लिखें
पोस्ट शेयर करें
loading...

0 comments: