Apr 22, 2017

राष्ट्रगान का भी ज्ञान नहीं है सोनम कपूर को, सोशल मीडिया पर जमकर हो रही फजीहत, पढ़ें क्या है वजह


sonam-kapoor-dont-have-knowledge-of-national-anthem-of-india

New Delhi, 22 April: कहा जाता है कि जब तक किसी टॉपिक पर ज्ञान ना हो उस टॉपिक पर बोलने से बचना चाहिए, सोनम कपूर भी आज अपने बड़बोलेपन का शिकार हो गयीं और सोशल मीडिया पर उनकी जमकर फजीहत हो गयी, उन्हें भारत के राष्ट्र-गान यानी नेशनल एंथम का ही ज्ञान नहीं है, आज उन्होंने खुद ही साबित कर दिया.

बात दरअसल ये थी कि उन्होंने हिंदुस्तान टाइम्स की 'Lets Talk About Trolls' सीरीज पर एक लेख लिखा था, उन्होने अपने लेख में कहा कि National Anthem यानी राष्ट्र-गान की एक लाईन में  'हिंदू, मुस्लिम, सिख, ईसाई' लिखा है, दरअसल वे सन्देश देना चाहती थीं कि राष्ट्रगान में भी लिखा है कि हिन्दू मुस्लिम सिख इसाई आपस में हैं भाई भाई. मतलब वे खुद को सेक्युलर पेश करने की कोशिश कर रही थीं और राष्ट्रवादियों को नसीहत दे रही थीं.

उनके इस लेख में साफ़ साफ़ National Anthem जन गण मन का जिक्र था इसलिए लोगों ने उनकी गलती को पकड़ लिया क्योंकि National Anthem (जन गण मन) में यह लाईन होती ही नहीं है, आप खुद देखिये.
national-anthem-of-india
जैसे ही लोगों ने सोनम कपूर की गलितियाँ पकड़ीं उनकी जमकर फजीहत होने लगी, लोगों ने कहा कि इन्हें राष्ट्र-गान भी नहीं आता और बड़ी बड़ी बातें कर रही हैं. उसके बाद सोनम कपूर की एक फॉलोवर ने 'Bharot Bhagyo Bidhata' कविता का दूसरा पैर शेयर किया जिसमें यह लाईन लिखी थी, इसे देखकर सोनम कपूर को थोडा तसल्ली हुई और उसके बाद उन्होने खुद को सही साबित करने की कोशिश की.
लेकिन अभी भी सोनम कपूर की गलती ठीक नहीं हुई थी क्योंकि जिसे हम National Anthem कहते हैं उसमें सोनम कपूर द्वारा बतायी गयी लाइन  'हिंदू, मुस्लिम, सिख, ईसाई' वाकई में नहीं है हाँ यह लाइन रवींद्र नाथ टैगोर की बंगाली कविता 'Bharot Bhagyo Bidhata' के दूसरे पैरा में है, इस कविता में पांच पैरा हैं और पहले पैरा को National Anthem माना गया है जिसे बाद में हिंदी भाषा में लिखा गया. आप खुद देखिये..

Poem: Bharot Bhagyo Bidhata

Jono gono mono odhinayoko joyo he
Bharato bhagyo bidhata!
Punjab Sindhu Gujarat Maratha
Drabir Utkolo Banga
Bindhyo Himachalo Jamuna Ganga
Uchchholo jolodhitorongo
Tobo shubho name jage,
Tobo shubho ashish mage,
Gahe tabo jayo gatha.
Jono gono mangalo dayoko joyo he
Bharato bhagyo bidhata!
Joyo he, joyo he, joyo he, Joyo joyo joyo joyo he..

Ohoroho tobo ahoban procharito,
Shuni tobo udaro bani
Hindu Bouddho Shikh Joino Parosik
Musolman Khrishtani
Purobo poshchimo ashe,
Tobo shinghashono pashe
Premohar hoy gatha.
Jono gono oikyo bidhayoko joyo he
Bharoto bhagyo bidhata!
Joyo he, joyo he, joyo he, Joyo joyo joyo joyo he..

Potono obhyudhoyo bondhuro pontha,
Jugo Jugo dhabito jatri.
He chirosharothi, tobo rotho chokre
Mukhuritho potho dinoratri.
Daruno biplobo majhe,
Tobo shongkhodhoni baje
Shonkoto dukkho trata.
Jono gono potho porichayoko joyo he
Bharoto bhagyo bidhata!
Joyo he, joyo he, joyo he, Joyo joyo joyo joyo he..

Ghoro timiro ghono nibiro nishithe
Pirito murchhito deshe
Jogroto chilo tobo obicholo mongolo
Notonoyone onimeshe.
Duhshopne atongke
Rokkha korile ongke
Snehomoyi tumi mata.
Jono gono duhkho trayoko joyo he
Bharoto bhagyo bidhata!
Joyo he, joyo he, joyo he, Joyo joyo joyo joyo he..

Ratri probhatilo, udilo robichhobi
Purbo udoyo giri bhale
Gahe bihongomo, punno shomirono
Nobo jibono rosh dhale.
Tobo korunoruno rage
Nidrito bharoto jage
Tobo chorone noto matha.
Joyo joyo joyo he joyo rajeshworo
Bharoto bhagyo bidhata!
Joyo he, joyo he, joyo he, Joyo joyo joyo joyo he..
नीचे कमेन्ट बॉक्स में अपनी राय लिखें
पोस्ट शेयर करें और फेसबुक पेज LIKE करें
loading...

0 comments: