Apr 25, 2017

सोशल मीडिया पर लोगों की मांग, राजनाथ सिंह का नाम बदलकर निंदा-नाथ सिंह होना चाहिए: पढ़ें


rajnath-singh-name-should-be-nindanath-singh-social-media

रायपुर, 25 अप्रैल: सोशल मीडिया पर करोड़ों बीजेपी समर्थक एक्टिव हैं, इन्हीं लोगों की अथाह मेहनत की वजह से लोकसभा चुनावों में बीजेपी की बम्पर विजय हुई थी और उसके बाद इन्हीं लोगों की वजह से आज तक बीजेपी की जीत का पहिया रुका नहीं है, लेकिन ये लोग मोदी सरकार से हमेशा एक्शन चाहते हैं, एक सैनिक के बदले 100 आतंकियों को ठोंकने की मांग करते हैं लेकिन आतंकियों, पत्थरबाजों और नक्सलियों पर कड़ी कार्यवाही करने और उन्हें ठोंकने के बजाय उनकी निंदा कर दी जाती है तो लोगों को गुस्सा भी आता है.

राजनाथ सिंह देश के गृह मंत्री हैं, उनके हाथों में सबसे बड़ी पॉवर है, CRPF, NSG उनके हाथ में हैं, खुफिया एजेंसियां उनके हाथ में हैं, इसके बाद भी सैनिकों की मौत पर वे हमेशा आतंकियों की निंदा करते हैं, जबकि सच आतंकी और नक्सली निंदा की भाषा समझते ही नहीं हैं.

कल सुकमा जिले में 300 से अधिक नक्सलियों ने घात लगाकर हमला किया और 26 CRPF जवानों की हत्या कर दी, इतने सैनिकों की मौत की घटना की राजनाथ सिंह ने कड़ी निंदा की तो सोशल मीडिया पर BJP के ही लोग नाराज हो गए, कई लोगों ने कहा कि राजनाथ सिंह का नाम बदलकर अब निंदा-नाथ कर देना चाहिए क्योंकि ये केवल निंदा करना जानते हैं, एक्शन करना तो जानते ही नहीं.

इस घटना से देश पूरे देश के लोगों का खून खौल गया है, लोगों का कहना है कि अब निंदा करने से काम नहीं चलेगा, अब तो एक्शन लेना पड़ेगा. मोदी सरकार को ठीक वैसा ही एक्शन लेना पड़ेगा जैसा श्रीलंका ने लिट्टे के खिलाफ लिया था, एक ही कार्यवाही में श्रीलंका सेना ने लिट्टे संगठन को जड़ के ख़त्म कर दिया, करीब 10 हजार लिट्टे के आतंकी मार दिए गए और दुनिया देखती रही.

यह पहला मामला नहीं है जब लोग राजनाथ सिंह पर नाराज हुए हैं, अभी हाल ही में कश्मीर में कुछ पत्थरबाजों ने CRPF जवानों को लात-घूंसों से मारा, उनके हाथ बंधे होने के कारण उनके हाथों में हथियार होने के बावजूद भी उन्होंने कुछ नहीं किया, इस घटना पर पूरे देश का खून खौल गया लेकिन राजनाथ सिंह का खून नहीं खौला, उन्होंने निंदा करके काम चला लिया.
नीचे कमेन्ट बॉक्स में अपनी राय लिखें
पोस्ट शेयर करें और फेसबुक पेज LIKE करें
loading...

0 comments: