Tuesday, December 20, 2016

चंडीगढ़ में BJP की जीत सुनकर बौखला गए केजरीवाल, बोले 'बीजेपी वाले अपने बाप को भी बेच खाएंगे'


kejriwal-attack-modi-amit-shah-bjp-notbandi-bhopal-rally-mp

भोपाल, 20 दिसंबर: चंडीगढ़ में बीजेपी की जीत की खबर सुनकर केजरीवाल अपना आपा खो बैठे और भोपाल रैली में बीजेपी पर जमकर हमला बोलते हुए कहा कि बीजेपी वाले अपने बाप के भी नहीं हैं और अगर इन्हें मौका मिले तो शाम तक अपने बाप को भी बेचकर खा जाएं।

अरविंद केजरीवाल ने यहां कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने मिलकर नोटबंदी की साजिश रची। भाजपा ने पहले अपना काला पैसा ठिकाने लगवाया, उसके बाद दोस्तों को ठिकाने लगाने कहा, उसके बाद बिना तैयारी के नोटबंदी की घोषणा कर दी। केजरीवाल ने मोदी की नीयत और नोटबंदी लागू करने के तरीके पर सवाल उठाते हुए कहा, "नोटबंदी के बाद देश की जनता कतारों में खड़े होकर अपना पैसा बैंकों में जमा करा रही है, इन्हीं पैसों की बदौलत उद्योगपतियों का आठ लाख करोड़ रुपये का कर्ज माफ किया जाने वाला है। जनता को बैंक में जमा अपना पैसा वापस मिलेगा या नहीं, इसकी गारंटी नहीं है।"

मध्यप्रदेश की राजधानी के छोला दशहरा मैदान में पार्टी की रैली को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी और भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने मिलकर साजिश रची, तब नोटबंदी का फैसला किया। इससे पहले भाजपा ने अपना काला पैसा ठिकाने लगवाया, अमित शाह ने अपना पैसा ठिकाने लगवाया, फिर दोस्तों से अपना पैसा ठिकाने लगाने कहा।

केजरीवाल ने कहा, "भाजपा न तो हिंदुओं की पार्टी है और न मुसलमानों की, यह तो सत्ता और पैसों के लालची लोगों की पार्टी है, इनका बस चले तो ये बाप को भी बेचकर खा जाएं शाम तक।"

उन्होंने प्रधानमंत्री मोदी की मां द्वारा नोटबंदी के बाद बैंक की कतार में खड़े होकर चार हजार रुपये निकाले जाने का जिक्र करते हुए कहा, "मोदी जी रोज नाटक करते हैं, अपनी मां को लाइन में लगा दिया चार हजार रुपये के लिए, क्या अच्छा लगता है कि देश के प्रधानमंत्री की मां लाइन में लगे? लानत है ऐसे बेटे को जो अपनी मां को लाइन में लगाता है।"

दिल्ली के मुख्यमंत्री ने कहा कि मोदी अपने कुछ और उद्योगपति मित्रों का आठ लाख करोड़ का कर्ज माफ करना चाहते हैं, इसके लिए सारे गरीबों की जमा पूंजी बैंकों में जमा करा ली है। ऐसा इसलिए, क्योंकि उन्होंने पिछले दिनों ही कुछ कारोबारियों का आठ हजार करोड़ का कर्ज माफ किया है, जिनमें विजय माल्या के 1200 करोड़ का कर्ज भी है।

केजरीवाल ने कहा कि पहले माल्या को देश से भगाया और फिर उसका कर्ज माफ कर दिया। इसी तरह कुछ और कारोबारियों का भी कर्ज माफ करना है, इसी के चलते समूचे देश को कतार में खड़ा कर दिया गया है। 

उन्होंने कहा कि एक तरफ गरीब, किसान को अपने बेटे-बेटी की शादी के लिए ढाई लाख रुपये नहीं मिल रहे, दूसरी ओर कर्नाटक में मोदी के करीबी जनार्दन रेड्डी 500 करोड़ रुपये अपनी बेटी की शादी में खर्च कर देते हैं।

आप संयोजक ने आयकर विभाग द्वारा बिड़ला और सहारा समूह के ठिकानों पर मारे गए छापों में मिले दस्तावेजों का हवाला देते हुए कहा कि इन दस्तावेजों के मुताबिक, गुजरात के तत्कालीन मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी और मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को रकम दिए जाने का खुलासा हुआ है। यही कारण है कि इन दस्तावेजों की जांच नहीं कराई जा रही है। ये लोग कितने ईमानदार हैं, यह इसी से समझा जा सकता है।

जनसभा को आप के प्रदेश संयोजक आलोक अग्रवाल ने भी संबोधित किया। इससे पहले केजरीवाल सुबह साढ़े सात बजे दिल्ली से नियमित उड़ान से भोपाल पहुंचे, जहां पार्टी के पदाधिकारियों ने उनका स्वागत किया।
पोस्ट शेयर करें
Loading...

0 comments: